अगर आज गांधी होते तो? प्रो. अपूर्वानंद के साथ

गांधी, जिन्हें हमें प्यार से बापू कहते हैं. लेकिन बापू के बारे में आज के समय में काफ़ी विवादास्पद बातें कही जाती हैं. बापू के सामने गोडसे का महिमामंडन इस तरह से किया जाता है जैसे गोडसे कोई महान शख्सियत था. लेकिन इन बातों से बापू के सत्याग्रह पर कोई असर नहीं पड़ता. जानिये ‘अगर आज गांधी होते तो..’ दिल्ली विश्वविद्यालय के शिक्षक प्रो. अपूर्वानंद के साथ.

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.