आज देशभर के डॉक्टर हड़ताल पर,अस्पतालों की ओपीडी बंद रहेगी

अस्पतालों की ओपीडी बंद 

आयुर्वेद के डॉक्टर को सर्जरी का अधिकार देने के खिलाफ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन का विरोध सामने आया है। आईएमए ने आज देशभर में डॉक्टरों की हड़ताल रखी है।

Doctors across the country are on strike today on IMA's appeal | देश भर के डॉक्टर आज हड़ताल पर, बंद रहेगी अस्पतालों की ओपीडी, जानें क्या है कारण| Hindi News, देश

आयुर्वेदिक डॉक्टर को सर्जरी का अधिकार देने के खिलाफ देशभर में आईएमए ने डॉक्टरों की हड़ताल बुलाई है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने इस फैसले पर अपना विरोध प्रकट किया है वहीं दूसरी तरफ आयुर्वेदिक डॉक्टरों ने इस फैसले का खुलकर समर्थन किया है। आज देशभर के एलोपैथी डॉक्टर हड़ताल पर रहेंगे जिसका सीधा असर अस्पतालों की ओपीडी पर पड़ेगा। हालांकि अस्पताल प्रशासन की ओर से आपातकालीन सेवाएं और कोरोनावायरस का इलाज जारी रहेगा।


और पढ़ें :एनआरसी समन्वयक शर्मा ने हाईकोर्ट से कहा-असम में 2019 में जारी की गई एनआरसी सूची फाइनल नहीं


आईएमए ने आयुर्वेदिक डॉक्टर को सर्जरी का अधिकार देने पर नाराजगी जताई

आज देशभर में डॉक्टरों की रहेगी हड़ताल, खुली रहेंगी कोविड सेवाएं, जानें क्या-क्‍या रहेगा बंद

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन द्वारा एलोपैथी के डॉक्टरों की हड़ताल का कारण है सरकार का वह अध्यादेश जिसमें आयुर्वेद डॉक्टरों को सर्जरी करने का अधिकार दिया गया है। कान, नाक, गले समेत 58 तरह के उपचार की सर्जरी की इजाजत दी गई है। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने सरकार के इस अध्यादेश को अपने खिलाफ बताते हुए उन्हें वापस लेने की मांग की है। एसोसिएशन का कहना है कि अगर यह अध्यादेश पास होता है तो इससे झोलाछाप डॉक्टरों को बढ़ावा मिलेगा और इलाज की गुणवत्ता भी प्रभावित होगी।

अध्यादेश के समर्थन में आगे आए आयुर्वेदिक डॉक्टर

OPD closed in private hospitals from 6 am to 6 pm, emergency is on | निजी अस्पतालों में आज सुबह 6 से शाम 6 बजे तक ओपीडी बंद, इमरजेंसी चालू - Money Bhaskar

आयुर्वेदिक डॉक्टरों ने साफ तौर पर सरकार के इस अध्यादेश का समर्थन किया है। आज चलने वाली हड़ताल सुबह 6:00 बजे से शाम 6:00 बजे तक चलेगी। इस दौरान आईएमए कार्यालय पर डॉक्टर धरना प्रदर्शन करते हुए भी नजर आ सकते हैं। दूसरी तरफ सरकार के इस अध्यादेश के समर्थन में आयुर्वेदिक डॉक्टर तरफा सरकार को समर्थन दे रहे हैं। इन डॉक्टरों का कहना है कि वह इस फैसले पर सरकार का पूर्ण रूप से समर्थन करते हैं और सम्मान करते हैं। आयुर्वेदिक डॉक्टरों ने यह भी कहा कि इस फैसले से इलाज का खर्च तो बचेगा ही साथ ही मरीजों को गुणवत्तापूर्वक इलाज मिलेगा।

सभी आपातकालीन सेवाएं जारी 

आईएमए की ओर से दिशा-निर्देश में साफ कहा गया है कि हड़ताल के दौरान भी आपातकालीन सेवाएं जारी रहेंगी। कोविड अस्पताल, आईसीयू, दुर्घटना एवं मेटरनिटी होम जैसी तमाम सेवाएं जारी रहेंगी। यह हड़ताल केवल सरकार के उस अध्यादेश के खिलाफ है जिसमें आयुर्वेदिक डॉक्टरों को सर्जरी करने की छूट दी गई है।

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.