बिहार विधानसभा चुनावों के बीच आयोग ने एक्साइज कमिश्नर कार्तिकेय धनजी को पद से हटा दिया

बिहार विधानसभा चुनाव

बिहार में चुनावी डंका बज चुका है और सारी पार्टियों ने अपनी एड़ी चोटी का जोर लगा दिया है इस चुनाव को जीतने के लिए जैसे-जैसे मतदान का दिन करीब आ रहा है पटना में चुनावी हलचल भी तेज हो गई है।


और पढ़ें:जीएसटी और कृषि बिल में कांग्रेस का विरोध ,हालांकि जिसकी नींव मनमोहन सिंह द्वारा रखी गयी


कार्तिकेय धनजी को बिहार एक्साइज कमिश्नर के पद से हटाया गया

निर्वाचन आयोग ने एक्साइज कमिश्नर कार्तिकेय धनजी को बिहार के उत्पाद आयुक्त के पद से हटा दिया है। चुनाव आयोग की सात सदस्य टीम बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव की समीक्षा करने मंगलवार को पटना पहुंची है जिसका नेतृत्व मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा कर रहे है। 

बिहार चुनाव में IAS अफसर पर गिरी गाज, आयोग ने एक्साइज कमिश्नर कार्तिकेय को हटाया - election commission removed excise commissioner b kartikey dhanji bihar election 2020

मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एच आर श्रीनिवास ने बुधवार को यह जानकारी दी की 2008 के आईएएस अधिकारी कार्तिकेय धनजी को मादक पदार्थों संबंधित प्रेजेंटेशन आयोग के समक्ष देना था जिससे आयोग संतुष्ट नहीं हुआ और उसके तहत अधिकारी पर कार्यवाही की गई। 

बिहार में शराब की खेब पर रोक लगाने में असफल

यह पाया गया है कि कार्तिकेय धनजी शराब की ख़रीद-बिक्री पर रोक लगाने में असफल साबित हो रहे थे पूर्ण शराब बंदी के बावजूद बिहार में गैर कानूनी ढंग से चुनाव के बीच शराब की तस्करी हो रही थी। आए दिन बिहार में शराब भारी मात्रा में पकड़े जा रहे हैं। निर्वाचन आयोग का कहना है इस पर सख्ती दिखाने की आवश्यकता है नहीं तो इसका परिणाम चुनाव पे पर सकता है।

Bihar Vidhan Sabha Chunav 2020: petition to postpone Bihar elections rejected EC said on dates

बता दें हटाए गए आईएएस अधिकारी के काम में ढीलापन पाया गया और तैयारी भी पर्याप्त ना मिलने की वजह से निर्वाचन आयोग की गाज उन पर गिरी है। आपको बता दें की सात सदस्य टीम बुधवार को मुख्य राजनीतिक दल के प्रतिनिधि से मुलाकात की जिसमें जदयू, भाजपा, राजद, कांग्रेस, लोजपा, भाकपा ने अपने ज्ञापन आयोग को सौंपा। 

बिहार जदयू नेता संजय कुमार झा ने रखा चुनाव आयोग के गाइडलाइंस

विभिन्न पार्टी के राजनेताओं ने आला अधिकारियों के सामने अपनी बात रखी वहीं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पार्टी से जदयू नेता संजय कुमार झा ने यह स्पष्ट किया चुनाव आयोग के गाइडलाइंस के तहत घर घर जाकर चुनाव प्रचार के वक्त पांच लोग से ज्यादा नहीं रहेंगे और सड़कों पर झुंड बनाकर प्रचार करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की। 

 भाजपा ने जहां फ्लैग मार्च की मांग की है वही विपक्षी दल राजद का कहना है कि कोरोना वायरस के इस दौर में जब लोग घरों से वोट देने निकलेंगे तो उनका बीमा कराना सरकार की ज़िम्मेदारी होनी चाहिए। 

Bihar Vidhan Sabha Chunav 2020: बिहार विधानसभा चुनाव 2020, Bihar Legislative Assembly election 2020 - Hindustan

लालू यादव की पार्टी ने मतदान केंद्र पर एंबुलेंस और मेडिकल किट की मांग की है वहीं दूसरी विपक्षी पार्टी कांग्रेस का कहना है किस चुनाव में किसी भी तरीके का पक्षपात नहीं होना चाहिए। 

यह कोई पहली दफा नहीं है कि चुनाव करीब आते ही सारी पार्टियों का चाल धाल बदल जाता है लेकिन इस बार का यह विधानसभा चुनाव ना  सिर्फ सारी पार्टियों के लिए बल्कि बिहार के जनता के लिए अपने आप में अलग होगा कोरोना वायरस के इस दौर में यह देखने वाली बात होगी कि लोगों का झुकाव किस पार्टी की ओर है।

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.