बिहार चुनाव: कोरोना से ठीक होने के तुरंत बाद रोड शो पर निकले सुशील कुमार मोदी

सुशील कुमार मोदी का रोड शो

बिहार चुनाव में आए दिन नेता कार्यकर्ता जनसभा को संबोधित कर रहे हैं और विरोधियों पर निशाना साध रहे हैं। इसी बीच बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी कोरोना से ठीक होकर तुरंत रोड शो पर निकल गए।

उप मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने सीतामढ़ी में किया रोड शो, एनडीए के पक्ष में की वोट की अपील - Bihar Sitamarhi General News

 

बिहार चुनाव में पहले चरण की वोटिंग समाप्त हो चुकी है और सभी अलग-अलग पार्टी हम आने वाले चरणों की तैयारी में लग गई हैं। बिहार में लगातार जनसभा को संबोधित किया जा रहा है। इसको कोरोना काल में यूं तो इलेक्शन कमिशन कई गाइडलाइंस जारी किए थे लेकिन इलेक्शन के शुरुआत से ही काफी नेता नियमों का उल्लंघन करते पाए गए हैं। हाल के दिनों में सबसे ताजा नाम है इसमें बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी का।

कोरोना से ठीक होने के तुरंत बाद निकलने रोड शो पर

Sitamarhi: कोरोना से उबरकर फिर चुनावी जंग में कूदे सुशील मोदी, ग्लव्स-मास्क पहन किया रोड शो - Deputy Chief Minister Sushil Kumar Modi Sitamarhi road show Sitamarhi Assembly candidate Dr ...

महागठबंधन के बढ़ते लोकप्रियता के बीच एनडीए गठबंधन ने अपनी चुनावी प्रचार को तेज कर दिया है। करीब 1 हफ्ते पहले बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी कोरोना से संक्रमित हो गए थे जिसके बाद वह ठीक हो कर तुरंत चुनाव प्रचार में सक्रिय हो गए। इस बात पर विशेषज्ञों ने उन पर कई तरीके के सवाल उठाए हैं।विशेषज्ञों का कहना है कि अभी उनको ठीक हुए 3 दिन भी नहीं हुआ और वह चुनावी प्रचार में शामिल हो गए जबकि नियमों के तहत कोरोना संक्रमित व्यक्ति को ठीक होने के बाद भी 10 दिन का आइसोलेशन लेना अनिवार्य है।


और पढ़ें :बिहार चुनाव में मजदूरों ने कहा-जिस सरकार ने हम लोगों के लिए कुछ नहीं किया, उसे बदलना चाहिए


22 अक्टूबर को कोरोना से संक्रमित हुए थे सुशील मोदी

ग़ौरतलब हो कि इसी महीने 22 अक्टूबर को सुशील कुमार मोदी कोरोना से संक्रमित पाए गए थे जिसके बाद उनका इलाज पटना एम्स में किया जा रहा था। मोदी ने खुद ट्वीट कर इसकी जानकारी दी थी और ठीक होकर चुनावी प्रचार में लौटने की बात कही थी।

Sushil Modi slams congress and rjd over farmers issues in Patna | सुशील मोदी का कांग्रेस-आरजेडी पर हमला, कहा-किसानों को लालटेन युग से बाहर लाने के बाद... | Hindi News, बिहार एवं

27 अक्टूबर उन को अस्पताल से छुट्टी मिल गई जिसके बाद उन्हें तमाम निर्देश दिए गए थे। एम्स के डॉक्टरों के तरफ से उन्हें आराम करने की हिदायत दी गई थी।आईसीएमआर के ताजा गाइडलाइंस के मुताबिक़ उन्हें छुट्टी दी गई थी और आइसोलेशन में जाने के लिए कहा गया था जिसे उपमुख्यमंत्री ने नहीं माना और चुनावी प्रचार में निकल गए।

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना  कोरोना से ठीक  होने के बाद आइसोलेशन जरूरी

विशेषज्ञों की राय के मुताबिक़ हर संक्रमित व्यक्ति कोरोना से ठीक होने के बाद 10 दिन के आइसोलेशन पर रहना होगा नहीं तो खतरा बना रहेगा।भले ही मरीज में लक्षण नहीं, लेकिन फिर भी उन्हें 10 दिन तक घर से बाहर निकलने की अनुमति नहीं होती। आईसीएमआर ने भी इस पर अपनी गाइडलाइंस जारी की है जिसमें मुख्य तौर पर कहा गया है कि संक्रमित व्यक्ति अगर ठीक हो कर घर लौटता है तो उसे 7 दिन के लिए होम क्वॉरेंटाइन में रहना अनिवार्य है।

बिहार के डिप्टी सीएम सुशील मोदी कोरोना पॉजिटिव – चम्बल संदेश

तमाम कोविड-19 के बावजूद सुशील कुमार मोदी ने इसे अपनाना जरूरी नहीं समझा और ठीक होने के 3 दिन बाद ही रोड शो पर निकल गए। वह सीतामढ़ी में एनडीए उम्मीदवार डॉ मिथिलेश कुमार के समर्थन में रोड शो करते पाए गए। यह रोड शो उन पर कई सवाल खड़े कर रहा है क्योंकि गाइडलाइंस के अनुसार उन्हें 6 नवंबर तक घर में रहना था जिसे उन्होंने नहीं माना। इतना ही नहीं अपने ट्विटर हैंडल पर रोड शो का फोटो शेयर करते नजर आए जिसमें पार्टी कार्यकर्ता बिना मास्क के बेखौफ चुनावी प्रचार में जुटे हैं।

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.