सूरत में 15 मज़दूरों की दर्दनाक मौत के बाद राजस्थान की पुलिस घटनास्थल के लिए रवाना

सूरत में 15 मज़दूरों की दर्दनाक मौत 

सोमवार को गुजरात के सूरत में कोसाम्बा के पास एक दर्दनाक हादसे में रात को सड़क के नज़दीक सो रहे मज़दूरों के ऊपर से ट्रक गुज़र गया। जिससे 15 मज़दूरों की मौत हो गई है और 5 मजदूर गंभीर हालत में अस्पताल में भर्ती है। यह सभी मज़दूर राजस्थान में बांसवाड़ा ज़िले के रहने वाले थे।

painful death of 14 workers of Banswara in surat gujarat accident | Gujarat  में मौत बनकर दौड़ा 'बेकाबू डंपर', ले ली Banswara के 14 मजदूरों की जान |  Hindi News, राजस्‍थान

घटनास्थल सूरत से लगभग 60 किलोमीटर दूर 

जानकारी के अनुसार ये घटना सूरत किम-मांडवी रोड पर रात के 12 बजे के करीब घटित हुई। यहां तेज रफ्तार से जा रहे ट्रक चालक ने ओवरटेक करने की कोशिश में गन्ने से लदे ट्रैक्टर को टक्कर मार दी। टक्कर के कारण ट्रक चालक ने स्टियरिंग पर से अपना नियंत्रण खो दिया और यह फुटपाथ पर सो रहे मजदूरों पर पलट गया। हादसे में 15 लोगों की मौके पर ही मौत हो गई जबकि पांच की हालत गंभीर है। 

घायल मजदूरों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया

Gujarat, Surat Accident: 15 people died after they were run over by truck  in Kosamba, Gujarat - सूरत के कोसांबा में सड़क किनारे सो रहे मजदूरों को  ट्रक ने कुचला, 15 की

इस पूरे घटना में एक छह महीने की बच्ची को बचाया गया है लेकिन उसके माता-पिता की मौत हो गई है। सभी मृतक राजस्थान के बांसवाड़ा जिले के कुशलगढ़ के मूल निवासी हैं। मौके पर पहुंची पुलिस ने शवों को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। ग़ौरतलब है कि गुजरात सीमा से सटे राजस्थान के बांसवाड़ा, डूंगरपुर से बड़ी संख्या में लोग रोज़गार के लिए गुजरात जाते हैं। हादसे  में घायल और मृतक की इसी क्रम में कई समय से यहां रह रहे थे। 


और पढ़ें:NCP ने कहा अर्नब गोस्वामी और पूर्व बार्क सीईओ की बातचीत की जांच करें


मृतकों की पहचान के लिए प्रशासनिक अधिकारी गांव पहुंच गए 

सूरत में दर्दनाक सड़क हादसे में 15 मजदूरों की मौतNNI

गुजरात में हुए हादसे के तुरंत बाद स्थानीय सरपंच को फोन पर सूचना मिली। बांसवाड़ा कलेक्टर अंकित कुमार सिंह ने बताया कि, “सूरत में मारे गए मज़दूरों का अभी पोस्टमार्टम हो रहा है। हमने कुशलगढ़ से ग्राम विकास अधिकारी, वृत्त अधिकारी, मुख्य कार्यकारी अधिकारी, सरपंच को गुजरात के लिए रवाना किया गया है।” वहीं सूरत जिला पुलिस अधीक्षक (रूरल) उषा राडा ने जानकारी दी है कि हादसे में सात महिलाओं समेत सात पुरुषों और एक बच्चे की मौत हुई है। छह घायलों को सूरत की स्मीमेर अस्पताल में भर्ती किया गया है। जान गंवाने वाले मज़दूरों में पांच कुशलगढ़ गांव के रहने वाले थे । पांच मज़दूर भगतपुरा गांव के रहने वाले थे और यह सभी एक ही परिवार के बताए जा रहे हैं।

पीएम सहित दोनो राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने घटना पर शोक व्यक्त किया

 

 

घटना पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक जताया है। उन्होंने लिखा, ‘सूरत में एक ट्रक दुर्घटना के कारण लोगों की मौत होने से दुखी हूं। मेरी सांत्वना शोक परिवारों के साथ हैं। प्रार्थना है कि घायल जल्द से जल्द ठीक हों।’ साथ ही उन्होंने घोषणा की कि हादसे में जान गँवाने वाले लोगों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से 2 लाख रुपये और घायलों को 50,000 रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी। मुख्यमंत्री सहायता कोष से मुख्यमंत्री विजय रूपाणी और राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी मृतकों के परिजनों को दो लाख रुपए और घायलों को पचास हज़ार रुपए की राशि की घोषणा की है।  

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.