जिन्ना तस्वीर विवाद: अपने प्रत्याशी मशकूर उस्मानी के बचाव में उतरी कांग्रेस, कहा- आरोप एकदम झूठा

कांग्रेस प्रत्याशी मशकूर उस्मानी को भाजपा ने घेरा

बिहार विधानसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। सभी पार्टियाँ जहां उम्मीदवारों को लुभाने में लगी हैं। वहीं राजनीतिक दलों के बीच में आरोप-प्रत्यारोप का दौर शुरू हो चुका है। इसी बीच अब कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवार को लेकर बवाल खड़ा हो चुका है। दरअसल, कांग्रेस ने बिहार चुनाव के लिए अपने प्रत्याशी मशकूर उस्मानी को दरभंगा की जाले विधानसभा से टिकट दिया है। इसे लेकर भाजपा नेताओं ने हंगामा शुरू कर दिया है। उन्होंने पिछले सप्ताह उस्मानी पर ‘जिन्ना समर्थक’ होने का आरोप लगाया था।

कांग्रेस उम्मीदवार मशकूर अहमद उस्मानी (फाइल फोटो)

जिस पर अब कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला उस्मानी के बचाव में उतर गए हैं। शनिवार को सुरजेवाला ने पटना के संवाददाता सम्मेलन में बताया कि, “उस्मानी का जिन्ना विचारधारा से कोई लेना देना नहीं है। यह आरोप एक बहुत बड़ा झूठ है। जब वे एएमयू के छात्र थे तब उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिख कर जिन्ना की चित्र हटाने की अनुमति मांगी थी। साथ ही, बॉम्बे हाई कोर्ट और संसद से तस्वीर हटाने का आग्रह किया था।“


और पढ़ें:मिशन शक्ति कैंपेन को लेकर प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर दागे सवाल, कहा- ‘ यह मिशन बेटी बचाओ है या अपराधी बचाओ’


जानिए, आखिर कौन है मशकूर उस्मानी

Congress Candidate Mashkoor Ahmad Usmani Said On Jinnah Controversy, We Who Follow Gandhi Ideology - बिहार: जिन्ना विवाद पर बोले कांग्रेस प्रत्याशी मशकूर, एएमयू से मैंने ही तस्वीर ...

मशहूर उस्मानी बिहार के दरभंगा जिले के निवासी हैं। वे 2017 में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी छात्र संघ के अध्यक्ष चुने गए थे। साथ ही, 2019 में उन्होंने सीए एनआरसी, भारतीय नागरिकता अधिनियम के खिलाफ अभियान भी चलाया था। मौजूदा समय में वे 2020 में हो रहे विधानसभा चुनाव के लिए कांग्रेस की जाले विधानसभा सीट के उम्मीदवार है।

जिन्ना की तस्वीर को लेकर क्या है विवाद? जाने

2017 में जब मशकूर अहमद अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के छात्रसंघ के अध्यक्ष बने थे तब जिन्ना की तस्वीर के मामले में काफी चर्चा में आए थे। दरअसल, साल 2018 में एएमयू के विश्वविद्यालय परिसर में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर एक विवाद खड़ा हो गया था, जिसके बाद भाजपा सांसद सतीश गौतम ने यूनिवर्सिटी के वीसी को पत्र लिखकर इस चित्र को लेकर आपत्ति जताई थी।

jinnah vivad se charcha me aaye mashkur Ahmad Usmani ko congress ne dia ticket : जिन्ना विवाद से सुर्खियों में आए AMU छात्रसंघ के पूर्व अध्यक्ष मशकूर अहमद उस्मानी को कांग्रेस ने

हालांकि, इस मामले को लेकर विश्वविद्यालय के छात्रसंघ ने कहा था कि जिन्ना का चित्र 1938 से लगा हुआ है।वहीं शुक्रवार को उस्मानी ने बताया कि उन्होंने उस समय उन्होंने बॉम्बे हाईकोर्ट,संसद में चित्र के लगे होने के संबंध में प्रधानमंत्री मोदी को पत्र लिखा था। हालांकि इस पत्र पर कोई जवाब नहीं मिला था।

उस्मानी बोले- ‘मुझे कुछ हुआ तो एनडीए होगा जिम्मेदार’

शनिवार को मशहूर उस्मानी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को पत्र लिखते हुए कहा कि यदि उन्हें शारीरिक तौर पर कोई क्षति पहुँचाई जाती है तो इसका जिम्मेदार एनडीए होगा।

बिहार चुनाव: कांग्रेस ने जिन्ना समर्थक को दिया टिकट, तो BJP-JDU ने घेरा – Navyug Sandesh

साथ ही उन्होंने ट्विटर पर लिखा, “मुझे निशाना बनाने और आगामी चुनाव प्रभावित करने की कोशिश में कल से विभिन्न समाचार चैनलों में कई झूठी और आपत्तिजनक रिपोर्ट चल रही है। मैं मीडिया घरानों के खिलाफ मानहानि का मुकदमा दायर करुंगा। लेकिन इन खबरों ने मेरी जान खतरे में डाल दी है। मेरे शुभचिंतको ने आगाह किया है कि चुनाव के दौरान मुझे निशाना बनाया जा सकता है।“

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.