झारखंड की राजधानी रांची में चोरी के आरोप में युवक की पीट- पीटकर हत्या

झारखंड: चोरी के आरोप में पिछले 21 महीनों में 12 लोगों की हुई पीट कर हत्या

झारखंड में चोरी के आरोप में भीड़ द्वारा पीट-पीटकर हत्या कर देने की घटनाएं दिन प्रतिदिन रुकने की बजाए बढ़ती ही चली जा रही है। अभी यह दिल दहला देने वाली घटना झारखंड की राजधानी रांची के अनगड़ा स्थित सिरका गांव की शनिवार रात के दो बजे के करीब की है।

जहां चोरी के आरोप में महेशपुर के निवासी 26 वर्षीय युवक मुबारक खान की शनिवार रात को पीट-पीटकर हत्या कर दी गई है। भीड़ ने टायर चोरी करने के आरोप में महेशपुर इलाके का निवासी और पेशे से ड्राइवर मुबारक की पीट-पीटकर बेरहमी से हत्या कर दी है। घटना की सूचना मिलते पुलिस ने मौके पर पहुंच कर शव को अपने साथ थाने ले गई है।

मृतक के परिजनों ने लगाया साजिश के तहत हत्या का आरोप 

घटना की जानकारी पाकर परिजन व बड़ी संख्या में लोगों की भीड़ थाना और मृतक के घर के आसपास जुटी हैं। उनका आरोप है कि मृतक मुबारक खान के गले, हाथ और पैर में चोट के निशान हैं। जिसे देख कर लग रहा है की उसकी गला घोंटकर किसी साजिश के तहत हत्या की गई है। वहीं इस मामले में मृतक मुबारक के भाई तबारक खान की तरफ़ से अंगारा पुलिस स्टेशन में एफ़आईआर दर्ज़ कराई गई है। जिसके अनुसार भीड़ में शामिल लोगों ने मिलकर उसके भाई को मार डाला है।

पीट-पीटकर मार डालने वालों में शामिल साहेब राम महतो ने 4 दिन पहले मुबारक खान को जान से मारने की धमकी दी थी। जिसके बाद एक साथ होकर सिरका गांव के एक बिजली के खंभे में बांधकर प्लानिंग कर इस मॉब लिंचिंग के घटना को अंजाम दिया गया है। भाई तबारक खान ने कहा कि उसे अपने गांव के पूर्व प्रधान से सुबह करीब 3 बजे यह सूचना मिली कि उसके भाई की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई है।

पुलिस ने दर्ज़ शिकायत के आधार पर केस पर जांच शुरू कर दी है। घटना से संबंधित आरोपियों की तलाश में  छापेमारी जारी है और कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया गया है। पुलिस अभी घटना को अंजाम देने वालों की गिरफ्तारी का आश्वासन देकर लोगों को शांत कर रही है।शव को कब्जे में लेकर पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।


और पढ़ें : दिल्ली में लगातार तीसरे दिन कोरोना के 400 से ज्यादा केस


झारखंड की राजधानी में मॉब लिंचिंग की ये घटना कोई पहली नहीं

धार मॉब लिंचिंग : यहां पढ़िए क्या था मामला जो पूरा गांव उन युवकों पर तरह टूट पड़ा

ग़ौरतलब है कि शनिवार मध्य रात्रि को मोटरसाइकिल का टायर चोरी करने के आरोप में भीड़ ने उस 26 साल के युवक को पकड़ खंभे से बांधकर पीट-पीटकर मार डाला। जो बाइक का टायर और बैटरी लिए अपने दो साथियों के साथ जा रहा था।

हालांकि अचानक उनकी बाइक फिसल गई और आरोपी युवक नीचे गिर गए। जिसके बाद पीछा कर रही भीड़ ने युवक को चोर समझ पकड़ बाइक का टायर चोरी करने का आरोप में उसकी पिटाई कर जान ले ली। वैसे झारखंड की राजधानी में मॉब लिंचिंग की ये घटना पहली नहीं है।

इससे पहले बीते 8 मार्च को रांची के कोतवाली इलाके में चोरी के आरोप में सचिन नाम के युवक की बांधकर पूरी रात पिटाई की गयी थी जिस के बाद सुबह युवक की मौत हो गयी थी। उससे पहले ऊपरी बाजार क्षेत्र में एक 22 वर्षीय व्यक्ति को मजदूरों के एक समूह ने चोरी करने के शक में बेरहमी से पीटा था।

ये केवल एक या दो घटना नहीं है इसके अलावा भी राज्य के अलग-अलग जिले में पिछले 21 महीने के दौरान चोरी के आरोप में भीड़ की पिटाई से 12 लोगों की मृत्यु हुई है। पुलिस प्रशासन के भीड़ की ओर से हिंसा पर लगाम लगाने के लिए अनेक प्रकार के जागरूकता अभियान चलाए जा रहे हैं मगर हिंसा रुकने की बजाय बढ़ती नज़र आ रही है।

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.