डिएगो माराडोना एक ऐसा नाम जिसे भूल पाना नामुमकिन

डिएगो माराडोना 

डिएगो माराडोना एक ऐसा नाम जिसे फुटबॉल और खेल जगत के बाहर भी हर कोई जानता है। महान फुटबॉलर की मृत्यु किसी अमूल्य रत्न को खो देने जैसा है।

Legendary footballer Diego Maradona died at age 60 AFP - महान फुटबॉलर डिएगो  माराडोना का 60 साल की उम्र में हार्ट अटैक से निधन

इस लीजेंड के बारे में जितना कहा जाए वो हमेशा कम ही लगेगा।उनकी मृत्यु पर शोक व्यक्त करते हुए सौरव गांगुली ने कहा कि उनका हीरो डिएगो माराडोना अब नहीं रहा।

फुटबॉल जगत के दिग्गज खिलाड़ियों में से एक थे जो वर्ष 1982 के स्पेन में हुए विश्व कप फ़ुटबॉल से चर्चा में आ गए थे। जिस समय उनकी उम्र केवल 21 वर्ष थी।और फिर माराडोना अर्जेंटीना के स्टार खिलाड़ी के रूप में उभर कर आए।

इसके बाद वर्ष 1986 में जब अर्जेंटीना ने वर्ल्ड कप जीता तब माराडोना उस टीम के कैप्टन रहे थे। उन्होंने अर्जेंटीना के लिए 91 मैच खेले जिसमें माराडोना ने 34 गोल दागे। साथ ही डिएगो माराडोना ने चार विश्व कप में अर्जेंटीना का प्रतिनिधित्व भी किया है।


और पढ़ें :किसानों के धरने से दिल्ली कूच मेट्रो एवं ट्रैफिक व्यवस्था प्रभावित, कई लोग गिरफ्तार


माराडोना ने 37वें जन्मदिन पर लिया फुटबॉल से रिटायरमेंट

हम आपको बता दें कि मात्र 16 साल की उम्र में अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल जगत में उन्होंने कदम रख दिया था। हालांकि अपने करियर के दूसरे दौर में कोकीन की लत का शिकार हुए थे।

Football Legend Diego Maradona Dead At 60, Daughters Serious Allegations On  Him - अलविदा माराडोना: फुटबॉल जगत का सबसे विवादित सितारा, सगी बेटियों ने  लगाए थे गंभीर आरोप - Amar Ujala ...

और वर्ष 1991 में वो ड्रग्स टेस्ट के लिए पॉजिटिव भी पाए गए थे जिस कारण से उन्हें 15 महीने के लिए खेल से प्रतिबंधित कर दिया गया था।इसीलिए तो कहते हैं कि फुटबॉल के सबसे करिश्माई खिलाड़ी ने अपने विवादित कदमों की वजह से अपने फैंस को कभी गुस्सा भी दिलाया और नाराज भी किया है।

वर्ष 1997 में अपने 37वें जन्मदिन पर प्रोफेशनल फुटबॉल ने रिटायरमेंट ले लिया था। इसके बाद माराडोना को वर्ष 2008 में अर्जेंटीना की फुटबॉल टीम का प्रमुख कोच बनाया गया था पर  2010 में उन्होंने इस पद को छोड़ दिया।

दिग्गज फुटबॉलर डिएगो माराडोना का निधन, विश्व दे रहा श्रद्धांजलि,  जानें,किसने क्या कहा

सच कहें तो आज बड़े दुख की बात है कि लीजेंड हमें अचानक यूं छोड़कर चले गए। उनकी मृत्यु पर क्रिकेटर से लेकर फिल्म स्टार तक सभी ने शोक व्यक्त किया है। अभिनेता शाहरुख़ ख़ान ने कहा है कि डिएगो माराडोना ने फुटबॉल के खेल को और ज्यादा खूबसूरत बना दिया। और अब उन की कमी बहुत खलेगी।

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.