मशहूर कैंसर विशेषज्ञ व अड्यार कैंसर संस्थान की स्थापक डॉ. वी. शांता का निधन

मशहूर कैंसर विशेषज्ञ डॉ. वी. शांता का निधन

मशहूर कैंसर विशेषज्ञ डॉक्टर वी. शांता का मंगलवार सुबह निधन हो गया। डॉ. शांता कैंसर संस्था की अध्यक्ष थी तथा उन्होंने कैंसर मरीज़ों के लिए कई काम किए थे। दरअसल सोमवार रात करीब 9:00 बजे डॉक्टर शांता को सीने में दर्द महसूस हुआ। जिसके बाद उन्हें एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया। लेकिन मंगलवार को उनका निधन हो गया। डॉ. शांता के निधन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक जताया है।

डॉ. वी. शांता

अड्यार कैंसर संस्थान की स्थापना से कि ग़रीबों वंचितों की सेवा

डॉ वी शांता एक कैंसर विशेषज्ञ होने के साथ ही एक समाज सेविका भी थी। उन्होंने ग़रीबों और वंचितों की मदद के लिए कैंसर संस्था की नीव रखी। दरअसल साल 1955 के अप्रैल महीने में वे कैंसर संस्थान से जुड़ी थी। उस समय संस्थान में सिर्फ 12 बिस्तर वाला एक छोटा सा अस्पताल था। लेकिन उनके के प्रयासों और उनकी मेहनत के जरिए यह संस्थान राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर एक बहुत बड़े कैंसर संस्थान में बदल गया। उन्होंने डॉ. कृष्णमूर्ति की मदद से यह मुकाम हासिल किया। लेकिन इतनी प्रभावशाली शख्सियत आज हमारे बीच नहीं रही। मंगलवार तड़के 3:55 पर उन्होंने दुनिया को अलविदा कहा। उनके पार्थिव शरीर को कैंसर संस्थान के पुराने कक्ष में लाया गया। यही वह परिसर था जिसकी स्थापना और निर्माण उन्होंने की थी।


और पढ़ें :कश्मीरी पंडितों के विस्थापन के पूरे हुए 31 साल, क्या है वापसी के आसार?


डॉ. वी. शांता को कई पुरस्कारों से नवाजा गया

डॉ. वी. शांता

शांता ने कैंसर के उपचार के क्षेत्र में जो योगदान दिया है उसका कोई मोल नहीं है। डॉक्टर शांता को उनके इन प्रयासों के लिए कई पुरस्कारों से सम्मानित भी किया गया। जिनमें से पद्मा श्री, पद्मा भूषण और पद्म विभूषण शामिल है। इसके अलावा साल 2005 में उन्हें रेमन मैग्सेसे पुरस्कार से भी नवाजा गया। डॉक्टर शांता के साथ-साथ उनके परिवार की भी देश सेवा में महत्वपूर्ण भूमिका रही। दरअसल नोबेल पुरस्कार प्राप्त वैज्ञानिक एस चंद्रशेखर उन्हीं के मामा है। वही प्रसिद्ध वैज्ञानिक सीवी रमन उनके नाना के भाई थे। इन सब प्रयासों के अलावा डॉ शांता ने और भी कई काम किए जैसे कि कैंसर की दवाइयों में कर की छूट, ट्रेनों और बसों में कैंसर मरीज़ों के लिए मुफ्त यात्रा। यह सब डॉक्टर शांता के ही प्रयासों का नतीजा है।

ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री ने जताया दुख

डॉ. वी. शांता

डॉक्टर शांता के निधन को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को उनके निधन पर शोक जताया। पीएम मोदी ने अपने ट्वीट में कहा कि शांता ने कैंसर मरीज़ों को उच्च कोटि का इलाज प्रदान किया और इसके लिए उनके प्रयासों को हमेशा याद किया जाएगा। मोदी ने ट्वीट में लिखा कि, “डॉक्टर वी शांता को कैंसर का उच्च कोटि का इलाज सुनिश्चित करने के प्रयासों के लिए याद किया जाएगा। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने यह भी कहा कि चेन्नई अड्यार कैंसर संस्थान में ग़रीबों और वंचितों की सेवा की जाती है तथा वर्ष 2018 में उन्होंने यहां का दौरा किया था। पीएम मोदी ने कहा कि वह उनके निधन की खबर सुनकर दुखी है।“

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.