श्रीनगर में नए क़ानून के तहत डोमिसाइल सर्टिफ़िकेट लेने वाले सुनार की गोली मारकर हत्या कर दी गई

श्रीनगर में डोमिसाइल सर्टिफ़िकेट लेने वाले सुनार की गोली मारकर हत्या

जम्मू कश्मीर की राजधानी श्रीनगर में एक सुनार की गोली मारकर हत्या कर दी गई। पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि वारदात सराय वाला में शाम को हुई। पुलिस अधिकारी के मुताबिक उन्हें सीने पर तीन गोली मारी गई जिसके बाद 62 वर्षीय सतपाल सिंह को अस्पताल ले जाया गया जहां उनकी मौत हो गई। सतपाल सिंह को हाल ही में‌ जम्मू कश्मीर आवासीय क़ानून के अंतर्गत कुछ दिनों पहले ही डोमिसाइल सर्टिफ़िकेट जारी किया गया था। वह इस प्रमाण पत्र को लेने वाले पहले व्यक्ति थे एवं सतपाल सिंह श्रीनगर में करीब 15 वर्षों से निवास कर रहे थे।

डोमिसाइल सर्टिफ़िकेट

 डोमिसाइल सर्टिफ़िकेट पाने के कुछ दिनों बाद ही आतंकवादियों ने बनाया निशाना

प्रमाण पत्र पाने के कुछ दिनों बाद ही आतंकवादियों ने सतपाल सिंह को अपना निशाना बना लिया। उन्हें उनकी दुकान पर ही गोली मार दी गई। टीआरएफ जो हाल ही में उग्रवादी संगठन घोषित की गई है उन्होंने हमले की ज़िम्मेदारी ली है। टीआरएस ने बयान जारी करते हुए कहा कि हमें उन सभी बाहरी लोगों के बारे में जिन्हें डोमिसाइल सर्टिफ़िकेट प्राप्त हुई है। संगठन ने दावा किया है कि यह सभी आर एस एस एजेंट है एवं धमकी देते हुए कहा कि हमें पता है आप क्या काम करते हैं और कहां रहते हैं हम आपके लिए आ रहे हैं। संगठन ने कहा जो बाहरी लोग इस क़ानून के तहत कश्मीर में जमीन खरीदेंगे हम उनका यही हाल करेंगे।


और पढ़ें :तीन नए कृषि क़ानूनों के खिलाफ जारी आंदोलन में गाज़ियाबाद के यूपी गेट पर एक किसान ने की आत्महत्या 


सतपाल सिंह ने हाल ही में श्रीनगर में दुकान एवं घर ख़रीदा 

 डोमिसाइल सर्टिफ़िकेट

जानकारी के मुताबिक डोमिसाइल सर्टिफ़िकेट मिलने के तुरंत बाद ही सतपाल सिंह ने श्रीनगर के बीच हनुमान मंदिर के पास दुकान ख़रीदा था एवं बादामी बाग आर्मी हेड क्वार्टर के पास इंदिरा नगर में घर ख़रीदा था। उचित मूल्य में‌ अच्छा सामान बेचने के कारण महीने भर में ही सतपाल सिंह का दुकान इलाके में प्रसिद्ध हो गया था और आमदनी भी अच्छी हो रही थी। सतपाल यहां अपने दो बेटों और एक बेटी के साथ रहते थे। वारदात वाले दिन ही आतंकियों के गुट ने अनंतनाग में सीआरपीएफ की पेट्रोलिंग पार्टी पर ग्रेनेड से हमला किया था जिसमें 1 सीआरपीएफ के सब इंस्पेक्टर घायल हो गए थे।

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.