लेबर एक्टिविस्ट नवदीप कौर को दो मामलों में कोर्ट से मिली जमानत

लेबर एक्टिविस्ट नवदीप कौर को कोर्ट से मिली जमानत

दलित मजदूर एवं ट्रेड यूनियन एक्टिविस्ट नवदीप कौर को पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट से दो मामलों में जमानत मिल गई है। तीसरे केस के लिए भी उन्होंने जमानत याचिका अदालत में दायर की है जिस पर फिलहाल सुनवाई होनी बाकी है। सूत्रों के अनुसार अगले हफ्ते तक इस पर भी सुनवाई हो जाएगी।

नवदीप

पंजाब एवं हरियाणा हाईकोर्ट ने नवदीप को सोमवार को एक केस में जमानत दी। वहीं पिछले हफ्ते एक केस में उन्हें पहले ही जमानत मिल गई थी। आपको बता दें कौर 12 जनवरी से जेल की सलाखों के पीछे हैं। तीसरे केस में उन पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कराया गया है जिस पर सुनवाई अगले हफ्ते होगी।

12 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था

नवदीप कौर को पिछले माह 12 जनवरी को गिरफ्तार किया गया था और तभी से वह जेल में बंद है। उनकी गिरफ़्तारी उस दौरान हुई जब वह अन्य मजदूरों के साथ कुंडली में विरोध प्रदर्शन में शामिल हुई थी। यह आरोप भी लग रहा है कि हिरासत में उनका यौन उत्पीड़न भी किया गया था। ग़ौरतलब हो कि अमेरिकी उपराष्ट्रपति कमला हैरिस की भतीजी मीना हैरिस ने भी नवदीप की गिरफ्तारी का मुद्दा ट्विटर पर उठाया था।

नवदीप

आपको बता दें नवदीप कौर हरियाणा के सोनीपत के कुंडली में इंडस्ट्रियल एरिया के एक फैक्ट्री में काम करती थी। यह दिल्ली हरियाणा बॉर्डर से करीब 3 किलोमीटर दूर है जहां बीते 3 महीने से किसान संगठन प्रदर्शन कर रहा है।


और पढ़ें :व्हाट्सऐप को सुप्रीम कोर्ट की फटकार कहा, लोगो के लिए कंपनी नहीं प्राइवेसी महत्त्वपूर्ण


किसानों को भी संबोधित कर चुकी हैं नवदीप कौर

नवदीप

नवदीप कौर ने हरियाणा में किसान आंदोलन को भी संबोधित किया था जहां उन्होंने किसानों और श्रमिक की आवाज उठाने और जागरूक करने की बात कही थी। बीते 12 जनवरी को उन्हें एक फैक्ट्री के मालिक के घर के बाहर प्रदर्शन के दौरान गिरफ्तार किया गया। इस प्रदर्शन के दौरान कुछ पुलिस अधिकारी भीड़ के हिंसा के शिकार भी हुए थे। इस मामले में कौर पर हत्या के प्रयास का मामला दर्ज किया गया है जिस पर सुनवाई अगले हफ्ते होनी है।

कौर ने पुलिस पर यौन उत्पीड़न का आरोप भी लगाया

कौर

नवदीप कौर ने गिरफ्तारी के दौरान हरियाणा पुलिस पर यौन उत्पीड़न का आरोप भी लगाया है। हालांकि पुलिस ने नवदीप के आरोपों का पूर्ण रूप से खंडन किया है। इस मामले में भी कोर्ट में सुनवाई होनी बाकी है। एक अन्य मामले में नवदीप की याचिका पर सुनवाई होनी बाकी है। आपको बता दें उन पर कुल 3 मामले दर्ज किए गए थे। इसमें पहला केस नवंबर 2020 को एक घटना से संबंधित है जब नवदीप कौर मजदूर अधिकारी संगठन कि प्रदर्शनकारी श्रमिक मजदूरों के मांग को लेकर हरियाणा के इंडस्ट्रियल यूनिट का घेराव किया था। इसी केस में उन्हें जमानत गुरुवार को हाईकोर्ट द्वारा दे दी गई।

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.