पटना में कोरोना मामले फिर से बढ़ें, एक दिन केस 500 के पार

बिहार में 3,416 नए कोरोनावायरस संक्रमित मरीज़ मिले और 19 मरीजों के इलाज के दौरान मृत्यु हो गई। इस तरह कोरोनावायरस मरीजों की कुल संख्या बढ़कर 68,148 हो गई। वहीं अब तक 388 कोरोना मरीज की मृत्यु हो चुकी है। दूसरी तरफ 43820 संक्रमित मरीज इलाज के बाद स्वस्थ हो चुके हैं। रिकवरी रेट में भी गिरावट देखने को मिली है जो कि इस समय 64.30 %  हो गई है। राज्य में इस समय 23,939 मरीज है जिनका इलाज चल रहा है।


और पढ़ें- कपड़ा मिल की महिलायें जिनका कोई अस्तित्व ही नहीं है, दिन भर के मेहनत के बाद मिलते हैं 10 रूपए


बीते 24 घंटों में बिहार के 10 जिलों में 100 से अधिक संक्रमित मिले हैं। पटना में पिछले 2 दिनों की गिरावट के बाद फिर 500 से अधिक 603 केस मिले, कटिहार में 234, भागलपुर में 128, पूर्वी चंपारण में 190, मुजफ्फरपुर में 118, नालंदा में 102, रोहतास में 106, सहरसा में 101, समस्तीपुर में 140 और वैशाली में 163 नए मामले सामने आए हैं।

बिहार राज्य स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार अररिया में 77, अरवल में 33, औरंगाबाद में 28, बांका में 58, बेगूसराय में 66, भोजपुर में 90, बक्सर में 92, दरभंगा में 40, गया में 77, गोपालगंज में 24, जमुई में 43, मधेपुरा में 44, मधुबनी में 75, मुंगेर में 57, नवादा में 43, पूर्णिया में 80, सारण में 94, शेखपुरा में 69, शिवहर में 14, सीतामढ़ी में 65, सिवान मे 92, सुपौल में 33, और पश्चिमी चंपारण में 89 संक्रमित मरीजों की पहचान की गई।

वहीं राज्य में जांच दर भी बढ़ा है, पिछले 24 घंटे में 7254 सैंपल की जांच की गई है अब तक राज में 799332 सैंपल की जांच की जा चुकी है।

तेजी से हो रही जांच के बाद भी बिहार में कोरोना संक्रमण का दर 1 सप्ताह में 15 फ़ीसदी से गिरकर 7.75 % हो गया है।

बीते 24 घंटे में 14 से 50 संक्रमित स्वस्थ हो गए प्राप्त जानकारी के अनुसार राज्य में पिछले 24 घंटे में 1450 संक्रमित मरीज इलाज के बाद स्वस्थ हो गए। अस्पताल में इलाज के बाद मरीजों को फिलहाल 7 दिनों तक आइसोलेशन में रहने की सलाह दी जा रही है।

बिहार के मुजफ्फरपुर के ग्रामीण इलाकों में 10 नए कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं स्वास्थ्य विभाग के प्रस्ताव पर जिला प्रशासन ने सहमति दे दी है अब स्थानों की घेराबंदी कर आवागमन पर प्रतिबंध लगा दिया गया इस तरह जिले में कंटेनमेंट जोन की कुल संख्या 110 हो गई है बता दें कि मुजफ्फरपुर में अभी कोरोना के 2,797 केस हैं।

वही भारत में आंकड़ा 20 लाख के पार हो चुका है। ना तो हनुमान चालीसा पढ़ने का कोई असर दिख रहा है ना राम मंदिर के भूमि पूजन का, इस बात से हमें बहुत क्षति पहुंची है।अब यदि बीजेपी के नेताओं एवं प्रवक्ताओं के पास कोई और उपचार है तो कृपया हमारे भारतवर्ष को कोरोना के इस संक्रमण से बचा ले। यदि हो सके तो सबको कोरोनिल या भाभी जी पापड़ का ही सेवन करा दें‌।

 

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *