पेट्रोल के दाम सौ पार, पीएम का पूर्व की सरकारों पर निशाना 

पेट्रोल के दाम सौ पार

बुधवार को देश में पहली बार पेट्रोल के भाव 100 रुपये प्रति लीटर के पार चले गए। वहीं इस बात का सीधा जिक्र ना करते हुए प्रधानमंत्री ने अपने एक संबोधन में कहा कि,अगर पहले की सरकारों ने देश के एनर्जी इंपोर्ट डिपेंडेंस को कम करने पर ध्यान दिया होता तो मध्यम वर्ग पर बोझ न पड़ता। 

Image result for पेट्रोल के दाम सौ पार

पीएम ने कहा आयात कम करने पर सरकारों ने किया होता काम तो नहीं पड़ता मिडिल क्लास पर बोझ

पीएम मोदी ने कल तमिलनाडु में तेल और गैस की एक परियोजना के उद्घाटन के मौके पर तेल की बढ़ती कीमतों का उल्लेख किए बिना कहा था कि, पिछले वित्त वर्ष 2019-20 में जरूरत का 85 फीसदी तेल आयात किया गया था और 53 फीसदी गैस का आयात किया गया था। उन्होंने कहा कि अगर इसे कम करने पर पहले कोशिशें की गई होंती तो मिडिल क्लास पर बोझ न पड़ता।

Image result for पेट्रोल के दाम सौ पार

एन्नौर-थिरुवल्लूर-बेंगलुरु-पुदुचेरी-नागापट्टिनम-मदुरै-तूतीकोरिन प्राकृतिक गैस पाइपलाइन के रामनाथपुरम- थूथूकुडी खंड का उद्घाटन करने के बाद अपने संबोधन में प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘क्या हमें आयात पर इतना निर्भर होना चाहिए? मैं किसी की आलोचना नहीं करना चाहता लेकिन यह जरूर कहना चाहता हूं कि यदि हमने इस विषय पर ध्यान दिया होता तो हमारे मध्यम वर्ग को बोझ नहीं उठाना पड़ता।”

पीएम ने कहा कि उनकी सरकार मिडिल क्लास को लेकर संवेदनशील

पीएम ने कहा उनकी सरकार पेट्रोल में एथेनॉल का हिस्सा बढ़ाने पर फोकस कर रही है। एथेनॉल को गन्ने से प्राप्त किया जाता है। इससे तेल के आयात में कटौती होगी और किसानों को आय का अतिरिक्त स्रोत भी प्राप्त होगा। पीएम मोदी ने कहा कि एनर्जी इंपोर्ट डिपेंडेंस घटाने पर काम चल रहा है। 

इसके अलावा रिन्यूअबल एनर्जी सोर्स पर भी काम चल रहा है जिसकी 2030 तक देश में कुल ऊर्जा उत्पादन में करीब 40 फीसदी हिस्सेदारी हो जाएगी। प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार प्राकृतिक गैस की भी हिस्सेदारी वर्तमान में 6.3 फीसदी से बढ़ाकर 15 फीसदी करने की योजना पर काम कर रही है और इसे जीएसटी के तहत लाया जाएगा ताकि कई टैक्सेज से कैस्केडिंग इफेक्ट को खत्म किया जा सके।

राजस्थान में पेट्रोल के दाम ने शतक लगाया, एमपी भी इसके करीब

ग़ौरतलब है कि लगातार नौवें दिन पेट्रोल के भाव बढ़ने के चलते देश में पहली बार बुधवार 17 फरवरी को नॉर्मल पेट्रोल के भाव 100 के पार चले गए। राजस्थान के श्रीगंगानगर में नॉर्मल पेट्रोल 100.13 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है।

हालांकि प्रीमियम पेट्रोल के भाव पहले ही कुछ शहरों में 100 रुपये प्रति लीटर से अधिक हो चुके हैं। भारत अपनी तेल जरूरत का अधिकतम हिस्सा आयात करता है तो इसके भाव इंटरनेशनल प्राइसेज पर निर्भर करते हैं। इंटरनेशनल मार्केट में क्रूड की कीमतें लगातार बढ़ रही हैं।


और पढ़ें :महिला सुरक्षा के नाम पर इंटरनेट सर्च एक्टिविटी को ट्रैक करना क्या निजता के अधिकार का हनन नहीं?


विपक्ष ने सरकार से बढ़ते दामों पर क़िया सवाल

Image result for पेट्रोल के दाम सौ पार

विपक्षी पार्टियाँ तेल की बढ़ती क़ीमतों के लिए मोदी सरकार को ज़िम्मेदार ठहराया। कांग्रेस ने कहा कि, जब अंतराष्ट्रीय बाज़ार में तेल की क़ीमत रिकॉर्ड स्तर पर कम हुई तब भी मोदी सरकार ने ग्राहकों को राहत नहीं दी बल्कि और टैक्स बढ़ा दिया था।

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.