भूमिहीन गरीबों के लिए बहुमंजिला भवन, जानिए बिहार राज्य कैबिनेट के कुछ अहम फ़ैसलें

बिहार राज्य कैबिनेट के कुछ अहम फैसले

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई राज्य कैबिनेट की बैठक में उक्त प्रस्ताव पर मंजूरी दिया गया है। जिसके अनुसार बिहार राज्य में कोरोना का टीका फ्री में दिया जाने वाला है। यानी पूरे राज्य में नि:शुल्क टीकाकरण कराया जाएगा और शीघ्र ही इससे संबंधित विभाग द्वारा अधिसूचना जारी किया जाएगा।

बिहार कैबिनेट की बैठक में राज्य के हित में लिए गए कुछ अहम फैसले। : Bihar Ki Baat

इसके अलावा बिहार सरकार ने युवाओं/महिलाओं को अपना उद्यम तथा व्यवसाय शुरू करने के लिए मदद करने का निर्णय लिया है। जिसके तहत उन्होंने बताया कि युवाओं/महिलाओं को उद्यम/व्यवसाय शुरू करने के लिए पांच लाख तक का अनुदान दिया जाएगा एवं उनकी कुल परियोजना लागत का 50 फीसदी होगा। साथ ही पांच लाख तक के लोन भी दिये जाने का निर्णय लिया है। बता दें कि जिसपर केवल एक फीसदी ब्याज युवाओं को देने होंगे एवं महिलाओं को तो यह लोन ब्याज मुक्त मिलेंगे एवं वहीं अविवाहित महिलाओं को इंटर उत्तीर्ण होने पर 25000 रुपये एवं स्नातक उत्तीर्ण होने पर 50000 रुपये तक की आर्थिक सहायता सरकार द्वारा दिए जाने का निर्णय किया गया है।

कैबिनेट में स्किल डेवलपमेंट तथा उद्यमिता पर दिया गया विशेष बल

Bihar cabinet approves 25 proposals, Government will give 60 thousand in CM Housing Plan

जानकारी के मुताबिक़ सरकारी एवं गैर सरकारी क्षेत्र में 20 लाख से अधिक लोगों के लिए रोजगार के नये अवसर तैयार करने का निर्णय लिया गया है। गौरतलब है कि नई सरकार गठन के एक महीने के भीतर हुई दूसरे कैबिनेट की बैठक में इसे शामिल किया गया है। इसके साथ ही दूसरे कैबिनेट की बैठक में बताया गया कि स्किल डेवलपमेंट तथा उद्यमिता पर विशेष बल देने हेतु एक अलग विभाग का गठन किया जाएगा और इस वजह से इसका नाम स्किल डेवलपमेंट एवं उद्यमिता विभाग दिया जायगा।


और पढ़ें :सुप्रीम कोर्ट ने भेजा स्टैंड अप कॉमेडियन कुणाल कामरा को नोटिस, 6 हफ्ते में देना होगा जवाब


 सड़क निर्माण और मेगा स्किल सेंटर की घोषणा

बिहार : नीतीश कैबिनेट की पहली बैठक में फैसला, 23 से 27 नवंबर तक चलेगा विधानसभा सत्र

इतना ही नहीं हर जिले में कम-से-कम एक मेगा स्किल सेंटर खोला जाने वाला है। जिसमें जो युवा आईटीआई एवं पॉलिटेक्निक में नहीं पढ़ रहे हैं मगर नये कौशल का प्रशिक्षण  चाहते हैं। उन युवाओं को वहां दाखिला कराया जाएगा। साथ ही इस स्थान  पर लोकप्रिय एवं उपयोगी स्किल्स जैसे एपरल मेकिंग, रेफरीजरेटर, एयर डंडिशनिंग, बुजुर्गों एवं मरीजों की देखभाल आदि का प्रशिक्षण दिया जाएगा ऐसा निर्णय लिया गया है।

साथ ही ग्रामीण पथों की संपर्कता अर्थात आस-पास के गावों को जोड़ते हुए मुख्य पथों और महत्वपूर्ण स्थानों, एनएच-एसएच तक संपर्कता प्रदान करने के लिए नई सड़क का निर्माण करने का फ़ैसला किया गया है एवं शहरी क्षेत्रों में आवश्यकता के मुताबिक़ बाईपास एवं फ्लाईओवर का निर्माण किया जाएगा।

चिकित्सा विश्वविद्यालय एवं एक अभियंत्रण विश्वविद्यालय स्थापन करने का लिया गया फ़ैसला

Cabinet approved 10 agendas in meeting in Bihar | बिहार कैबिनेट का बड़ा फैसला, 33 हजार शिक्षकों की होगी बहाली, 10 एजेंडों पर लगी मुहर | Hindi News, बिहार एवं झारखंड

इस बैठक में कहा गया कि हर खेत तक सिंचाई के लिए पानी उपलब्ध कराया जाएगा एवं इस कार्य के लिए अलग फीडर लगाये जा रहे हैं और सारे गांवो में सोलर स्ट्रीट लाईट लगाने की व्यवस्था की जायगी। जिससे की गांवों में रात के वक्त भी आ‌वागमन ठीक तरीके से हो। इन सभी के साथ कुछ और भी फैसले लिए गए जैसे कि प्रत्येक प्रमंडल में टूल रूम और ट्रेनिंग सेंटर स्थापित किये जाएंगे। साथ ही तकनीकी शिक्षा हिंदी भाषा में भी उपलब्ध कराने का भी  प्रयास किया जायगा।

सरकार की ओर से राजगीर में एक खेल विश्वविद्यालय  स्थापना किया जायगा एवं बिहार के सभी शहरों में ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन की व्यवस्था उत्तम तकनीक से किया जायगा। सारे शहरों एवं विशेष नदी घाटों पर विद्युत शवदाह गृह सहित मोक्षधाम का निर्माण होगा और गांव-गांव तक लोगों के लिए स्वास्थ्य सुविधाओं की बेहतर व्यवस्था की जायगी। वहीं विदेशों में शिक्षा लेने जाने वाले विद्यार्थियों के लिए डिजिटल काउंसिलिंग सेंटर की स्थापना का फ़ैसला लिया गया है।

स्वास्थ्य की ओर ध्यान देते हुए एक चिकित्सा विश्वविद्यालय एवं एक अभियंत्रण विश्वविद्यालय स्थापन करने का फ़ैसला लिया गया है और उन बच्चों के लिए जो हृदय में छेद के साथ जन्मे हैं। उनका नि:शुल्क उपचार हेतु बाल हृदय योजना लागू होगा। दूसरी तरफ वृद्धों के लिए भी प्रत्येक शहरों में आश्रय स्थल तैयार किया जायगा। शहर में रहने वाले बेघर/भूमिहीन गरीबों के लिए बहुमंजिला भवन निर्माण किया जाएगा। गौरतलब है कि इन कार्यक्रमों का पर्यवेक्षण और अनुश्रवण बिहार विकास मिशन के द्वारा किया जाने वाला है।

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.