क्या बिहार में कोरोना काबू में आ गया है? जानें आंकड़े क्या कहते हैं.

भारत में कोरोना के लगभग 317 लाख से भी अधिक मामलों के साथ भारत तीसरे नंबर पर सबसे ज़्यादा कोरोना प्रभावित देश है। दुनिया भर में कोरोना राष्ट्रो की संख्या में दैनिक वृद्धि के मामले में भारत दूसरे स्थान पर है। लेकिन राहत की बात यह है कि डेथ रेट केवल 1.85% ही है।


और पढ़ें- बिहार में बाढ़ है लेकिन मीडिया और सरकार मस्त नींद में पड़ी है


बिहार में भी भले प्रतिदिन कोरोना संक्रमितो में इज़ाफा हो रहा है, लेकिन संक्रमितो के ठीक होने की संख्या भी अधिक है। बिहार में पिछले 24 घंटों में कोरोना से 3169 लोग ठीक हो चुके हैं और पिछले 24 घंटों में 1444 नए मामले जुड़े हैं। राहत की खबर यह है कि पिछले चौबीस घंटों में रिकवरी रेट भी बढ़ा है। 24 अगस्त 2020 को रिकवरी रेट 82.15% था जो बढ़कर अब 83.74% हो गया है। अब तक कुल ठीक हुए मरीजों की संख्या बढ़कर 1,04,531 हो गयी है। राज्य में संक्रमितो का कुल आंकड़ा पहुंचकर 1,24,827 हो गया है।

दिनांक 24 अगस्त 2020 को कुल 75,385 जांच करी गई थी और 24 अगस्त 2020 को जांच के आधार पर कुल 978 प्रतिवेदित मामले मिले थे। अब तक बिहार राज्य में कुल जांच की संख्या 25,70,097 पहुंच गई है।

राजधानी पटना में अभी सबसे अधिक संक्रमित मिले हैं। ज़िलावार सक्रिय मामलों की बात करें तो पटना में 2738, मुज़फ्फ़रपुर में 1038, मधुबनी में 1068, पूर्वी चंपारण में 1006, बेगूसराय में 731, अररिया में 550, और गया में 417 संक्रमित मिले हैं।

झारखंड में पिछले 24 घंटे में 940 नए मामले सामने आए हैं। पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस से 15 और मरीजों की मौत हो गई है। झारखंड में कुल मृतकों की संख्या 335 पहुंच गई है और अब तक की इस महामारी से कुल 21,025 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। रिपोर्ट के अनुसार पिछले 24 घंटों में 17173 लोगों की जांच हुई है जिनमें से 940 लोग संक्रमित पाए गए हैं।

कोरोना काल में कुछ महत्वपूर्ण ख़बरे 

  • झारखंड में कुल 21,025 लोग अब तक हुए कोरोना से रिकवर।
  • जमशेदपुर में कोरोना के 147 पॉजिटिव मरीज मिले।
  • बिहार में गंभीर कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ी है।
  • बिहार में 25 अगस्त से शुरू हुई परिवहन व्यवस्था।
  • पटना पीएमसीएच के दो डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव।
  • मुजफ्फरपुर में बन रहे कोविड अस्पताल का निरीक्षण करने पहुंचे केंद्रीय गृह राज्य मंत्री।

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *