बिहार सरकार ट्रांसजेंडर के अधिकारों को क्यों ख़त्म कर रही है?

साल 2019 में सुप्रीम कोर्ट ने ट्रांसजेंडर एक्ट के तहत हर तरह की नौकरियों में सभी जेंडर को बराबरी का अधिकार दिया था. लेकिन बिहार सरकार इस एक्ट की साफ़ तौर से अवहेलना करती है. हालिया सिपाही भर्ती में किसी भी ट्रांसजेंडर को फॉर्म भरने की इजाज़त भी सरकार द्वारा नहीं दी गयी. देखिये अनुप्रिया की रिपोर्ट.

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.