रेलवे के निजीकरण को लेकर रेल मंत्री का बड़ा बयान,कहा भारतीय रेल देश की संपत्ति

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा

भारतीय रेलवे का निजीकरण को लेकर लगातार उठ रहे सवालों का जवाब देते हुए रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि रेलवे का निजीकरण केवल विपक्षी पार्टियों का दुष्प्रचार है। उन्होंने कहा कि भारतीय रेल देश की संपत्ति है और हमेशा रहेगी। 

कॉरपोरेट लूट की वेदी पर अब भारतीय रेलवे के बलि की तैयारी

रेल मंत्री ने कहा  वर्षों-वर्षों तक भारतीय रेल में जो प्रगति होनी चाहिए थी वो नहीं हुई। आज भारतीय रेलवे की सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए 50 लाख करोड़ रुपए की आवश्यकता है। पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप से विकास होना अच्छी बात है। उन्होंने कहा कि डीएमआईसी प्रोजेक्ट बहुत तेज गति से चल रहा है।

उन्होंने  पीपीपी मॉडल का बचाव करते हुए कहा कि पीपीपी मॉडल पर  पर लोगों को ट्रेन संचालन के लिए दी जा रही है ताकि रेलवे को फायदा हो और अगर कुछ उद्योगपति ट्रेन चलाना चाहते हैं तो उनका रेलवे स्वागत करती है। रेलवे भारत की संपत्ति है और भारत सरकार की संपत्ति रहेगी। इससे यात्रियों को भी बेहतर सुविधाएं मिलेंगी। 


और पढ़ें :यूपी में ‘लव जिहाद’ कानून के तहत पहला केस दर्ज,लड़की के पिता की शिकायत पर दर्ज हुई FIR


15 अगस्त से पहले डीएमआईसी यानी दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर का काम पूरा हो जाएगा

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने  दावा किया कि डीएमआईसी प्रोजेक्ट का काम 2022 से पहले पूरा होगा। साल 2022 में भारत जब आजादी का 75 वां सेलिब्रेशन करेगा। रेलवे उस समय तक फ्रेड कॉरिडोर चालू करने के लिए प्रतिबद्ध है। इससे इंडस्ट्रियल एरिया डवलब होगा व कनेक्टिविटी सुधरेगी और आर्थिक विकास भी होगा तथा नए रोजगार के अवसर मिलेंगे।

रेलमंत्री पीयूष गोयल का आया बड़ा बयान! कहा- 'नहीं होगा रेलवे का निजीकरण'

उन्होंने बताया कि डीएमआईसी (दिल्ली-मुंबई इंडस्ट्रियल कॉरिडोर) प्रोजेक्ट का वो खुद प्रत्येक सोमवार को रिव्यू करते हैं। उनकी निगरानी में पूरा काम हो रहा है। और यह भी सुनिश्चित किया की 15 अगस्त 2022 से पहले इस प्रोजेक्ट का काम पूरा हो जाएगा। इससे देश को नई दिशा मिलेगी और औद्योगिक क्षेत्र में कई शहर सीधे महानगरों से जुड़ पाएंगे।

कोरोना काल में रेलवे ने अनूठा उदाहरण पेश किया और लोगों को उनके घर तक पहुंचाया

केन्द्रीय रेल मंत्री पीयूष गोयल ने रविवार को अलवर के ढिगावड़ा में कहा कि जब तक कोरोना महामारी पर नियंत्रण नहीं आता तब तक राज्य सरकारों से चर्चा कर धीरे-धीरे यात्री ट्रेनों का संचालन शुरू किया जा रहा है। एक साथ सभी ट्रेनें शुरू हो जाए और महामारी पूरे देश में बड़े रूप में फैल जाए वो देश के लिए अच्छा नहीं है।

रेलवे के निजीकरण पर रेल मंत्री ने दिया बड़ा बयान, क्या रेलवे का निजीकरण होने की है संभावना ? | The Lokniti

रेल मंत्री ने  कहा कि ट्रेनों के साथ औद्योगिक क्षेत्र को डेवलप करने का काम भी तेजी से चल रहा है 

रेल मंत्री ने कहा कि अलवर में हजारों की संख्या में औद्योगिक इकाइयां हैं। यहां औद्योगिक हब है। रेलवे की तरफ से कई प्रोजेक्ट पर काम चल रहा है और जरूरत के हिसाब से माल गाड़ियां और यात्री गाड़ियां चलाई जा रही हैं। दोनों को चलाने के अलावा निवेश का काम भी रेलवे की तरफ से समय-समय पर किया जा रहा है।

रेल मंत्री का दावा देश में सबसे पहले  कोरोना  की वैक्सीन

Hindi News Paper, Latest Hindi News, Hindi News, Latest News, Breaking News in Hindi, हिंदी न्यूज़ | Sanjeevni Today

रेल मंत्री गोयल ने ढिगावड़ा-बांदीकुई रेलखंड के विद्युतीकरण कार्य के शुभारंभ के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि जल्द ही देश में कोरोना की वैक्सीन आएगी। प्रधानमंत्री खुद लगातार कोरोना वैक्सीन को लेकर दौरा कर रहे हैं। उन्होंने जिन शहरों में कोरोना वैक्सीन पर काम चल रहा है। उन जगहों का निरीक्षण किया हैं। 

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.