लड़कियों की शादी के उपयुक्त आयु के संबंध में पीएम मोदी बोले- समिति की रिपोर्ट आते ही जल्द करेंगे कार्यवाही

पीएम मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित एक कार्यक्रम में बताया

लड़कियों की शादी की सही उम्र क्या हो? सरकार जल्द लेगी फैसलाः PM मोदी

प्रधानमंत्री मोदी ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित एक कार्यक्रम में बताया कि, लड़कियों की शादी की उपयुक्त आयु क्या हो इसे लेकर, जल्द रिपोर्ट आते ही सरकार इस मामले में कार्यवाही करेगी।यह कार्यक्रम संयुक्त राष्ट्र के खाद्य और कृषि संगठन (FAO) की 75 वीं वर्षगांठ के अवसर पर आयोजित किया गया था।

पीएम मोदी ने कहा कि, बेटियों की शादी की उचित आयु क्या होगी तय करने के लिए चर्चा चल रही है। मुझे देशभर की जागरूक बेटियों की चिट्ठियाँ आती है कि जल्द से निर्णय कीजिए। मैं उन सभी बेटियों का आश्वासन देता हूं कि बहुत ही जल्द रिपोर्ट आते ही उस पर सरकार अपनी कार्यवाही करेगी।


और पढ़ें:6 महीने से नही मिला वेतन, हिंदू राव अस्पताल के डॉक्टरों ने कैंडल मार्च कर किया प्रदर्शन


उन्होंने बताया कि छोटी आयु में गर्भ धारण करना, शिक्षा की कमी, जानकारी का अभाव, पानी न होना, स्वच्छता की कमी ऐसी अनेक वजहों से कुपोषण के खिलाफ लड़ाई में जो अपेक्षित परिणाम आने चाहिए, वह नहीं आ रहे तथा इसके लिए देश में अलग-अलग स्तर पर विभागों द्वारा प्रयास किए जा रहे हैं। हालांकि, इनका दायरा सीमित है या तो टुकड़ों में बिखरा हुआ है।

स्वतंत्रता दिवस पर यह कहा था पीएम मोदी ने

बेटियों की शादी की उम्र के संबंध में बदलाव के संदेश प्रधानमंत्री मोदी ने स्वतंत्रता दिवस के मौके पर ही दिया था। उन्होंने लाल किले से देश को अपने नाम से संबोधन दिया था, जिसमें उन्होंने महिलाओं से संबंधित कई मुद्दों पर चर्चाएं की थी।

लड़कियों की शादी की सही उम्र क्या हो? सरकार जल्द लेगी फैसलाः PM मोदी

उन्होंने बताया था कि बेटियों में कुपोषण खत्म होने, उनकी शादी की सही आयु क्या हो आदि से संबंधित एक कमेटी बनाई है। इस कमेटी की रिपोर्ट आते ही बेटियों की शादी की उम्र के बारे में उचित फैसला लिए जाएंगे।

बता दे, देश में लड़कियों की शादी के लिए कम से कम आयु 18 वर्ष तथा लड़कों की शादी के लिए 21 वर्ष निर्धारित की हुई है।

शादी की न्यूनतम आयु में बदलाव के पीछे का कारण  क्या 

Pm Modi Says Discussion On The Appropriate Marriage Age Of Girls Continues, Action Will Be Taken As Soon As The Report Comes - लड़कियों की शादी की उपयुक्त उम्र पर चर्चा जारी,

सरकार शादी की न्यूनतम आयु में इसलिए बदलाव करना चाहती है, जिससे मृत्यु दर में कमी आए। इसका कारण यह भी है कि सुप्रीम कोर्ट ने कुछ समय पहले व्यवहारिक बलात्कार ( Marital rape) के संबंध में कहा था कि बाल विवाह पूरी तरह से अवैध होना चाहिए तथा सुप्रीम कोर्ट ने सरकार को उम्र के निर्धारण को लेकर फैसला करने को कहा था।

इस संबंध में एक अधिकारी का कहना है कि शादी के लिए लड़के लड़की की न्यूनतम आयु समान होनी चाहिए। वही मां बनने की कानूनी उम्र यदि 21 साल तय कर दी जाती है, तो इससे बच्चे पैदा करने की क्षमता करने वाले सालों की संख्या अपने आप घट जाती है।

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.