विश्व हिंदू परिषद ने हिंदू परिवारों से मिलकर ‘लव जिहाद’ के बारे में शिक्षित और जागरूक करने की बात कही

 ‘लव जिहादके बारे में शिक्षित और जागरूक करने की बात कही

देश में बढ़ते लव जिहाद के मामले सामने आने के बाद यह मामला अब गंभीर हो चुका है और इस बढ़ते संकट के विषय में विद्यालय, कॉलेज, महिला मंडल, व्यावसायिक प्रतिष्ठान तथा धार्मिक कार्यक्रम आदि में लव जिहाद के बारे में सचेतन करना आवश्यक बन गया है।

explainer on theory of love jihad in india: लव जिहाद है क्‍या जानिए सब कुछ

 

विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने बजरंग दल और दुर्गा वाहिनी से हिंदू परिवारों से मिलकर उन्हेंलव जिहादके बारे में बताने की बात कही है। और कारण यह है की युवा मासूम महिलाओं को कई तरीकों का पालन कर फुसलाया जाता है। इसीलिए वीएचपी ने अपने युवा विंग यानी बजरंग दल और महिला विंग जिसका नाम दुर्गा वाहिनी है।

क्या भारत में 'लव-जिहाद' के ख़िलाफ क़ानून संभव है, क्या कहता है संविधान?

उनसे लव जिहाद के मामलों पर कड़ी नज़र रखने और हिंदू परिवारों को इस बारे में शिक्षित और उनके बीच जागरूकता फ़ैलाने का अभियान चलाने की बात कही है।


और पढ़ें :महागठबंधन के हारे हुए उम्मीदवार ने की कोर्ट जाने की पूरी तैयारियां


लव जिहाद के मामलों को रोकने और कठिन क़ानून बनाने पर दिया ज़ोर

जानकारी के लिए बता दें कि विश्व हिंदू परिषद जो कि आरएसएस से संबद्ध है। हमेशा से ही लव जिहाद के मामलों को रोकने और कठिन क़ानून बनाने पर ज़ोर देती रही है।और इस वर्ष अक्तूबर में ही लव जिहाद को रोकने के लिए  वीएचपी ने मोदी सरकार से एक कठोर क़ानून व्यवस्था लेकर आने की मांग भी किया है।

Two Odisha Police Personnel Postpone Wedding to Be On Coronavirus Duty, Earn Praise For Their Commitment

विश्व हिंदू परिषद के राष्ट्रीय प्रवक्ता विनोद बंसल ने इसको एक गंभीर समस्या बताया है। जिसपर ध्यान देना अति आवश्यक है। इसके साथ ही वीएचपी दल ने ऐसे मामलों की शिकार हुई महिलाओं की सहायता करने की बात को भी सामने रखा।

ग़ौरतलब है कि यूपी मे योगी आदित्यनाथ सरकार ने इस बात को खुला ऐलान किया है कि जो भी मुस्लिम शख्सलव जिहादकी चेष्ठा करेगा वह अपनी मौत को स्वयं ही बुलावा देगा। यूपी,हरियाणा और मध्य प्रदेश की भाजपा सरकारों द्वारा घोषणा भी हुई है कि वे अब लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने जा रहे हैं।

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.