कृषि विधेयक बिल से निपटने के लिए स्मृति ईरानी और भोजपुरी का प्रयोग

कृषि विधेयक को लेकर स्मृति ईरानी 

कृषि विधेयक ( farm bill) को लेकर स्मृति ईरानी ने विपक्षी पार्टियों पर निशाना साधते हुए कहा  कि कांग्रेस ने अपने 10 साल के कार्यकाल में एक स्वामीनाथन रिपोर्ट तक लागू नहीं कर पाई।

मोदी सरकार ने इसे लागू भी किया और 1.5  गुना ज्यादा एमएसपी भी दिया, और उन्होंने ये भी बताया कि इस एमएसपी रेट को लागू रखना सरकार का संवैधानिक वादा है।

smriti irani on agriculture bill - msp is not high, congress is misleading farmers : कृषि बिल पर स्मृति ईरानी बोलीं- MSP कोई आंच नहीं, किसानों को गुमराह कर रही कांग्रेस

उन्होंने बोला को मोदी सरकार किसानों के फायदे के बारे में सोच रहे है, और हमे ये बात समझनी होगी की यदि कोई संसद में कुछ कहता है तो वो उनका जनता से किया हुआ वादा होता है।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने विपक्षी दलों से सावल किया की आखिर कृषि संबंधी बिलों पर इतना विरोध और हो हल्ला क्यों हो रहा है?  उन्होंने दलील पेश करते हुए कहा कि ये बिल किसानों को अपने उत्पाद को स्वतंत्र रूप सितापरियों को बेचने की अनुमति देता है।


आगे पढ़ें: नए कृषि अध्यादेश को लेकर किसानों का विरोध शुरू, सरकार ने लाठीचार्ज किया


किसानों को आत्मनिर्भर करेगा: स्मृति ईरानी 

किसानों को केवल उनके ज़मीन कि सुरक्षा ही नहीं बल्कि यह भी सुनिशचित करता है कि उनकी फ़सलों को खरीदने वाले व्यापारी उन्हें अधिकतम तीन दिन के भीतर पूरा भुगतान कर दें।

तो फिर विपक्षी दलों का इतना विरोध प्रदर्शन क्यों? किसान निधि योजना के अंतर्गत 10 करोड़ से ज्यादा किसानों को उनके खेतों के लिए 90 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा का सहयोग दिया गया।  उन्होंने कहा कि ये बिल किसानों को आत्मनिर्भर बनाएंगे। 

Farm Bills 2020 : कृषि बिल पर विपक्ष को स्मृति ईरानी ने सुनाई खरी खोटी, किसानों से किया ये वादा, Union Minister Smriti Irani Slams opposition on Farm Bills 2020

स्मृति ईरानी का पंजाबी में बोलना

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने संसद में पारित हुए बिल के समर्थन और कांग्रेस के विरोध में पंजाब में बयान दिया है। वहीं पश्चिम बंगाल में एक एनिमेशन सीरीज को लॉन्च किया गया है।

और बिहार में भोजपुरी में अभियान चलाया गया, यह सब भाजपा कि और से कृषि विधेयक को समर्थन देने के लिए विभिन्न राज्यों में चलाई जा रही रणनीतियों का हिस्सा है। 

 

भोजपुरी में एक सोशल मीडिया अभियान शुरू

बिहार जहां अक्टूबर माह में चुनाव होने वाले हैं, वहां भाजपा ने भोजपुरी में एक सोशल मीडिया अभियान शुरू किया है जिसमें विधेयकों को लेकर एक गाना भी शामिल है। इसी प्रकार किसानों को विधेयकों का लाभ समझने के लिए पार्टी ने पश्चिम बंगाल में कार्टून एनीमेशन निर्मित एक एनीमेशन सीरीज भी शुरू की है।

वहीं पार्टी के युवा वर्ग, भारतीय जनता युवा मोर्चा अपने एक कार्यकर्ता अपिल परमार के सहायता से यूट्यूब पर एक शो की मेजबानी कर रहा है जो विधेयकों से जुड़े मुद्दों की दिखा रहा है।

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.