देश में लगे 100 करोड़ वैक्सीन, लेकिन प्रधानमंत्री ने आशा कार्यकर्ताओं का ज़िक्र भी ज़रूरी नहीं समझा

भारत में 100 करोड़ का वैक्सीन पूरा किया और इसका जश्न पूरे देश में मनाया गया लेकिन इसमें ज़मीन पर काम करने वाली आशा वर्कर्स का ज़िक्र भी प्रधानमंत्री द्वारा नहीं किया गया है. आशा वर्कर्स को सिर्फ़ 1800 रूपए महीने में प्रोत्साहन राशि दी जाती है जिससे इनका घर भी नहीं चलता है. देखिये आमिर की रिपोर्ट.

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.