बिहार में फिर से लॉकडाउन लेकिन क्या सच में इससे कोरोनावायरस का ख़ात्मा होगा?

कोरोना संक्रमण बढ़ने की वजह से बिहार में 16 अगस्त तक लॉकडाउन लगा दिया गया है। राज्य सरकार के मुताबिक 50% क्षमता के साथ निजी और सरकारी दफ्तर खुलेंगे। जबकि रात 10:00 बजे से सुबह 5:00 बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू रहेगा। कुछ शर्तों के साथ गारमेंट शॉप और दुकानें खुलेगी जब की दुकान और मार्केट को लेकर डीएम फैसला लेंगे।

काफी मेहनत मशक्कत के बाद बिहार अब 1 दिन में कोरोना संक्रमण के 20,000 सैंपल तक जांच करने वाला प्रदेश बन गया है। पिछले 24 घंटे में 20,801 सैंपल की जांच की गई जिसमें 2082 पॉजिटिव मिले। गुरुवार को 12 लोगों की मौत संक्रमण की वजह से हो गई। इनमें 3 डॉक्टर और एक राजद नेता शामिल हैं। इधर 1159 संक्रमित स्वस्थ भी हुए हैं राज्य में संक्रमण की वजह से अब तक 296 जाने जा चुकी हैं।

कोरोना

2082 नए संक्रमित मरीजों में 410 अकेले पटना के हैं इसमें 29 जुलाई को 285 जबकि 28 जुलाई को 125 पॉजिटिव मिले थे अब तो की संख्या बढ़कर 8229 हो गई है इनमें एक्टिव 3342 है।


और पढ़ें- आखिर बिहार में कब ख़त्म होगा कोरोना का दौर?


वहीं राज्य में एक्टिव केसिस की संख्या 16,042 हो गई है पिछले 24 घंटे में 901 नए एक्टिव मामले सामने आए। बुधवार तक प्रदेश में एक्टिव केस की संख्या 15140 थी। साथ ही साथ बीते 24 घंटे में 1169 लोग स्वस्थ हो गए हैं। अब तक कुल 31673 लोग महामारी को पराजित करने में सफल हुए हैं इस समय बिहार राज में स्वस्थ होने की दर 65.98% है।

सर्वाधिक कोरोना केस वाले जिलों में पटना में कल 411, भागलपुर में 96, मुजफ्फरपुर में 21, नालंदा में 137, गया में 67, नए मामले सामने आए हैं।

अररिया में 29, अरवल में 19, बांका में 23, भोजपुर में 76, बेगूसराय में 72, बक्सर में 52, दरभंगा में 18, पूर्वी चंपारण में 140, गोपालगंज में 29, जमुई में 50, जहानाबाद में 17, कैमूर में 46, कटिहार में 32, किशनगंज में 29, खगरिया में 44, लखीसराय में 13, मधेपुरा में 19, मधुबनी में 7, नवादा में 46, पूर्णिया में 16, रोहतास में 105, सहरसा में 25, समस्तीपुर में 32, सारण में 79, शेखपुरा में 18, शिवहर में 17, सीतामढ़ी में दो, सिवान में 40, सुपौल में 57, वैशाली में 71 और पश्चिमी चंपारण में 87 नए संक्रमण के मामले सामने आए।

बिहार में इस समय जांच दर प्रति 1000000 व्यक्ति पर 4396.2 है और अब तक 525430 लोगों की जांच की जा चुकी है।

इस बीच विधानसभा चुनाव जोर पकड़ रहा है। ताज़ा जानकारी आई है कि मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने ईमेल इंटरव्यू में बताया कि समय पर बिहार विधानसभा चुनाव कराने के लिए निर्वाचन आयोग हर मुमकिन प्रयास कर रहा है। उन्होंने वर्चुअल चुनाव प्रचार को समय की ज़रुरत बताया हालांकि ऑनलाइन या मोबाइल के जरिए वोटिंग के विकल्प पर सोचने की बात से इंकार कर दिया है।

 

Digiqole Ad Digiqole Ad

Sabeeh Akhter

Related post

Leave a Reply