दिल्ली के हिंदू राव हॉस्पिटल के डॉक्टर और सेवा कर्मी ने सैलरी नहीं मिलने तक हड़ताल का फैसला लिया

हिंदू राव हॉस्पिटल 

उत्तर दिल्ली नगर निगम में हॉस्पिटल हिंदू राव के डॉक्टरों एवं स्टाफ सदस्यों ने सैलरी ना मिलने से नाराज होकर अनिश्चितकाल तक हड़ताल पर जाने का फैसला लिया  हैं।

Hindu Rao Hospital Strike: AIIMS Doctors Against Violence - हिंदू राव अस्‍पताल के डॉक्‍टरों ने खोला मोर्चा, मारपीट के खिलाफ हड़ताल, एम्‍स का मिला समर्थन | Patrika News

कोरोनावायरस के इस दौर में देश के कई चिकित्सक और सेवा कर्मी अपनी जान की बाजी लगाते हुए कोरोना वॉरियर्स के रूप में उभरे हैं। कई डॉक्टर और स्टॉफ ऐसे भी हैं जो महीने से अपने परिवार से दूर होकर अपना पूरा समय कोरोना मरीज को ठीक करने में लगा रहे हैं।


और पढ़ें:उत्तर प्रदेश  में 1 साल में दोगुनी हुई बेरोज़गारी दर, अजय कुमार लल्लू के सवालों को यूपी सरकार ने स्वीकारा


इस  दौर में यह कोरोना वरियर्स हर सम्मान और प्रशंसा के योग्य है। इसी बीच नया मामला सामने आया है की उत्तर दिल्ली नगर निगम के हिंदू राव अस्पताल से जहां के डॉक्टरों ने वेतन न मिलने से नाराज़ होकर अनिश्चितकाल तक हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है। उनका कहना है की उन्हें बीते 4 महीने से बकाया वेतन नहीं मिला है जिसके वजह से वह यह कदम उठाने पर मज़बूर हैं।

पिछले हफ्ते भी अस्पताल के कर्मचारी पेन डाउन स्ट्राइक पर थे

हालांकि अस्पताल की सारी इमरजेंसी सेवाएं जारी रहेंगी। डॉक्टरों का कहना है कि उन्हें जून से वेतन नहीं मिला है जिसकी वजह से उन्हें खासा दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।

पिछले हफ्ते भी अस्पताल के कर्मचारी 9 बजे से 12 बजे तक पेन डाउन स्ट्राइक पर थे। नागरिक विकास का कहना है कि मामले को देखा जा रहा है। रेजिडेंट डॉक्टर एसोसिएशन द्वारा अस्पताल प्रशासन को लिखे गए पत्र में कहा गया कि जब तक ‘कोई वेतन नहीं है कोई काम नहीं’। 5 अक्टूबर से डॉक्टरों ने अनिश्चितकाल तक हड़ताल पर जाने का फैसला लिया है।

protest by doctors of hindu rao hospital : हिंदू राव अस्पताल के डॉक्टरों का विरोध प्रदर्शन

इस पत्र में यह भी कहा गया कि 3 महीने से वेतन नहीं मिलने पर अस्पताल प्रशासन तत्काल स्थाई समाधान निकालें और एक औपचारिक नोटिस भी जारी करें।

हिंदू राव हॉस्पिटल दिल्ली नगर निगम का एक बहुत ही प्रसिद्ध हॉस्पिटल है। 900 बेड वाले अस्पताल ने कोरोना वायरस के इस दौर में अधिकतर कोरोना मरीजों का इलाज कर रहा है। इलाज के दौरान अस्पताल के कई डॉक्टर और स्टाफ कर्मी भी कोरोना पॉजिटिव हुए।

protest by doctors of hindu rao hospital : हिंदू राव अस्पताल के डॉक्टरों का विरोध प्रदर्शन

डॉक्टरों का कहना है कि हम अपनी जान की बाजी लगाकर यहां मरीजों की सेवा कर रहे हैं तो क्या हमें अपना बकाया वेतन तक नहीं दिया जा सकता? रेजिडेंट अस्पताल के प्रेसिडेंट अभिमन्यु सरदाना ने कहा की पिछले हफ्ते पेन डाउन स्ट्राइक के बावजूद हमारी मांगों को किसी ने नहीं सुना। हमारा भी एक परिवार है जिन्हें गुजारे के लिए पैसों की जरूरत पड़ती है और यहां हमें जून से ही वेतन नहीं मिला है। हम अपना बकाया वेतन ही तो मांग रहे हैं इसमें क्या गलत है?

नॉर्थ दिल्ली के मेयर जयप्रकाश ने अपने हालिया बयान में कहा कि इस मामले का समाधान तुरंत से तुरंत निकाला जाएगा। हम मामले की गंभीरता को समझते हैं और इसका समाधान निकालने के लिए तत्पर हैं।

Digiqole Ad Digiqole Ad

Aparna Vatsh

Related post