वायु प्रदूषण के खिलाफ सड़क पर उतरी 9 साल की प्रदर्शनकारी Licypriya Kangujam

Licypriya Kangujam

9 साल की Licypriya Kangujam ने यह साबित कर दिया है कि कुछ भी कर दिखाने के लिए उम्र मायने नहीं रखती। ‘एज इज जस्ट नंबर’ यह बात 9 साल की उम्र की मणिपुर की लड़की ने साबित कर दिया है।

Licypriya Kangujam who 'turned down' PM Modi's #SheInspiresUs honour may have faked her 'achievements' to stardom. Read how

आपको बता दें, Licypriya Kangujam अंतर्राष्ट्रीय बाल शांति पुरस्कार और भारत शांति पुरस्कार पाने वाली सबसे कम उम्र वाले लोगों में से एक है।Licypriya Kangujam इन दिनों भारत सरकार से दिल्ली एनसीआर क्षेत्र के लिए जलवायु परिवर्तन कानून पारित करने के पक्ष में आंदोलन कर रही हैं, जिससे प्रदूषण की रोकथाम करने में मदद मिले।

Licypriya का जन्म

आपको बता दें, Licypriya Kangujam का जन्म 2 अक्टूबर 2011 को मानिकपुर में हुआ था। मात्र 8 साल की उम्र में 2019 में एपीजे अब्दुल कलाम चिल्ड्रन अवार्ड से भी सम्मानित किया जा चुका है।

India climate activist Licypriya Kangujam on why she took a stand - BBC News
आपको बता दें, Licypriya Kangujam जब 6 साल की छोटी उम्र में थी तब उन्हें मंगोलिया में संयुक्त राष्ट्र के डिजास्टर कॉन्फ्रेंस में प्रतिभागी बनने का मौका मिला था, जिसके बाद से उनकी पूरी जिंदगी बदल गई। वहां से वापस लौटने के बाद इस ने ‘द चाइल्ड मूवमेंट’ संगठन की शुरुआत की। इसी तरह 2018 तक लगातार जलवायु परिवर्तन को लेकर अपनी आवाज बुलंद करती रही। इसी के चलते राजधानी दिल्ली में कितना प्रदूषण है यह किसी से छुपा नहीं हुआ है। इसी से प्रभावित होकर इसी के संबंध में आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से मुलाकात करेंगे।


और पढ़ें:कोरोना काल के दौरान प्रधानमंत्री का राष्ट्र के नाम सातवीं बार संबोधन


Licypriya ने ट्वीट में कहा

आपको बता दें एक अन्य ट्वीट में ने साफ करते हुए कि उन्होंने रात में आंदोलन क्यों किया? उन्होंने केंद्र सरकार से जलवायु परिवर्तन कानून की मांग की है। Licypriya Kangujam दिल्ली के विजय चौक पर एक शांतिपूर्ण आंदोलन में बैठी हैं।

Don't call me India's Greta Thunberg, says climate activist Licypriya Kangujam

आपको यह भी बता दें कि Licypriya Kangujam ने अपनी मांग पर जन समर्थन पाने के लिए लोगों से 18 अक्टूबर को विजय चौक पर इकट्ठा होकर इस आंदोलन में उनका साथ देने की अपील किया था। स्वास्थ्य तथा पर्यावरण पर खतरे पर चिंता जताते हुए Licypriya Kangujam ने ट्वीट किया “या तो कोरोना वायरस या वायु प्रदूषण उन्हें मार देगा।”

अरविंद केजरीवाल करेंगे Licypriya से मुलाक़ात

इसी के संबंध में आज दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल Licypriya Kangujam से मुलाकात करेंगे। आपको बता दें। एक अन्य ट्वीट में Licypriya Kangujam ने साफ करते हुए कि उन्होंने रात में आंदोलन क्यों किया कहा, “लोगों ने मुझसे कहा, “आप आधी रात में विरोध क्यों कर रहे हैं? जब मैंने दिन के समय विरोध किया तो किसी ने मेरी बात नहीं सुनी।

India's 'Greta' completes one year of protests in front of Parliament - EasternEye

लेकिन अब, सभी ने मेरी आवाज सुनी। आधी रात में प्रतीकात्मक विरोध हमारे नेताओं को एक मजबूत संदेश भेज रहा है कि यह समय नहीं है सो रहा है। अब उठ जाओं। लोगों की मौत हो रही है।” नेताओं के लिए Licypriya Kangujam ने कहा, “मैं अपने नेताओं से प्रदूषण की लड़ाई में कुछ सार्थक कार्रवाई करने की अपील करना चाहता हूं।” उन्होंने इस मामले में कहा, “इसका हल खोजने के बजाय, नेता एक-दूसरे पर आरोप लगाने में व्यस्त हैं।”

Digiqole Ad Digiqole Ad

sneha singh

Related post