बिहार चुनाव के बीच पटना कांग्रेस दफ़्तर में आयकर विभाग ने छापा मारा, गोहिल और सुरजेवाला से की पूछताछ

बिहार चुनाव के बीच दफ़्तर में छापेमारी

जानकारी के अनुसार छापेमारी में 8.5 लाख रुपए बरामद हुए। कांग्रेस पार्टी का दावा है कि यह पैसे कार्यालय दफ़्तर से नहीं बल्कि बाहर खड़ी गाड़ी से मिले हैं और वह जांच में पूरी तरीके से सहयोग करने के लिए तैयार हैं। बिहार चुनाव के बीच पटना के कांग्रेस के दफ्तर में आयकर विभाग ने बुधवार को छापेमारी कर चुनावी हलचल बढ़ा दिया।

दफ़्तर

 

छापेमारी के दौरान कांग्रेस मुख्यालय सदाकत आश्रम में रणदीप सुरजेवाला और प्रभारी शक्ति सिंह गोयल से पूछताछ भी हुई। आयकर विभाग के अधिकारियों ने काफी समय तक दफ्तर में छापेमारी की‌ और कार्यकाल में एक नोटिस भी चिपका दिया। मामले के बाद कांग्रेस कार्यकर्ता और प्रतिनिधि मौन धारण करके बैठे हैं।

कांग्रेस दफ़्तर में आयकर विभाग

बिहार चुनाव के पहले चरण की वोटिंग 28 अक्टूबर से शुरू होने वाली है जिसमें अब मुश्किल से एक हफ्ता भी नहीं बचा है। ऐसी स्थिति में आयकर विभाग की छापेमारी कांग्रेस के लिए कई परेशानियां खड़ी कर सकती है। हालांकि कांग्रेस पार्टी ने छापेमारी पर कई तरीके के सवाल उठाए हैं। उनका कहना है कि भाजपा सरकार अपने पद का दुरुपयोग करके कांग्रेस पार्टी की छवि खराब करने के पीछे तुली है। लेकिन आगामी चुनाव में जनता उन्हें मुंहतोड़ जवाब देगी। उनकी हार तय है।

दफ़्तर

सूत्रों के हवाले से खबर है कि छापेमारी में आयकर विभाग ने लगभग 8.5 लाख रुपए एक गाड़ी से बरामद किए।दूसरी मीडिया रिपोर्टों के अनुसार करीब 5 लाख रुपए बरामद हुए हैं। औपचारिक तौर पर आयकर विभाग की ओर से मीडिया के लिए कोई बयान जारी नहीं किया गया है। आयकर विभाग के तीन अधिकारियों के नेतृत्व में छापेमारी की कार्रवाई की गई। मीडिया के सवालों पर अभी विभाग में कहां है कि जब तक मामले की पूर्ण तौर पर जांच नहीं हो जाती इस बारे में फिलहाल कुछ नहीं कहा जाएगा। अभी विभाग की जांच चल रही है।


और पढ़ें :बिहार में कोशी नदी के तटबंध का विस्तारीकरण सिर्फ कुछ लोगो के लिए ही लाभदायक


कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह ने भी इस मामले में अपना बयान दिया

दफ़्तर

आयकर विभाग की छापेमारी पर कांग्रेस पार्टी प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल ने कहा विभाग को दफ्तर से कुछ बरामद नहीं हुआ। बाहर खड़ी एक गाड़ी में पैसे रखे थे जिसे आयकर विभाग ने पकड़ा है इससे पार्टी का कोई लेना देना नहीं है लेकिन उन्होंने पार्टी दफ्तर में नोटिस चिपका दिया।

उन्होंने यह भी कहा कि इस कार्रवाई को लेकर उनके पास चुनाव आयोग का नोटिस हां या नहीं इस बारे में विभाग ने उन्हें कोई जानकारी नहीं दी। कांग्रेस पार्टी जांच में पूरा सहयोग करेगी ऐसा दावा शक्ति सिंह गोयल ने किया। भाजपा पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि सारा काला धन तो भारतीय जनता पार्टी के पास है।

बिहार कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सदानंद सिंह ने भी इस मामले में अपना बयान दिया। उन्होंने कहा कि इस कार्रवाई से जदयू भाजपा गठबंधन सरकार की बौखलाहट साफ नजर आती है। ऐसे पक्षपात से लोकतंत्र कमजोर हो रहा है।

जदयू भाजपा को हार का डर है इसीलिए उन्होंने कांग्रेस पर ऐसी कार्रवाई की। यह कार्रवाई सिर्फ कांग्रेस को बदनाम करने की साजिश है। उन्होंने यह भी कहा कि आगामी चुनाव में एनडीए की हार तय है और बिहार की जनता उन्हें अवश्य सबक सिखाएगी।

Digiqole Ad Digiqole Ad

Aparna Vatsh

Related post