बिहार के मुंगेर में मूर्ति विसर्जन के दौरान हुई हिंसक झड़प

बिहार के मुंगेर में मूर्ति विसर्जन के दौरान हिंसक झड़प

बिहार के मुंगेर जिले में दशहरा पर दुर्गा मूर्ति विसर्जन के दौरान पब्लिक और पुलिस के बीच हुई हिंसक झड़प ,जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई और कई लोग घायल भी हुए। खबरों के मुताबिक लोगों ने मूर्ति विसर्जन के दौरान जमकर बवाल काटा और पुलिस से भिड़ गए।सुना जा रहा है कि इसको नियंत्रित करने के लिए पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी।

Munger Bihar News: Violent clash during Durga idol immersion in Munger district of Bihar one dead in police firing several injured

प्रशासन ने 26 अक्तूबर की शाम तक मूर्ति विसर्जन का आदेश दिया

इस घटना में मृत युवक के परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने गोली चलाई, जिस वजह से युवक की मौत हो गई। जबकि पुलिस का कहना है कि कुछ शरारती तत्वों ने जानबूझकर पथराव किया और गोली चलाई, जिससे यह घटना घटी है।

पुलिस ने बताया है कि इस झड़प में 17 पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। हम आप सबकी जानकारी के लिए बता दें कि विधानसभा चुनाव को देखते हुए प्रशासन ने 26 अक्तूबर की शाम तक मूर्ति विसर्जन का आदेश दिया था। स्थानीय लोगों का आरोप है कि पुलिस की फायरिंग में युवक की मौत हुई है। घटना के बाद किसी अनहोनी को रोकने के लिए दीन दयाल चौक और आसपास के इलाके को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया है।

बिहार : मतदान से ऐन पहले मुंगेर में पुलिस और लोगों के बीच फायरिंग, गोली लगने से एक की मौत, कई पुलिस वाले जख्मी

पुलिस ने बताया कि मुंगेर में पंडित दीन दयाल चौक के पास शंकरपुर के मूर्ति विसर्जन के लिए प्रशानस ने आदेश दिया था और मूर्ति विसर्जन के दौरान पुलिस और स्थानीय लोगों में कहासुनी हो गई।जिसके बाद किसी ने इसी बीच फायरिंग शुरू कर दी।पुलिस के मुताबिक़ गोली 18 वर्षीय अनुराग कुमार को लगी, जिसके बाद उसने उसी समय पर दम तोड़ दिया।फायरिंग में पांच अन्य लोग भी घायल हुए, जिन्हें इलाज के लिए मुंगेर जिले के सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।


और पढ़ें :कोयला घोटाला मामले में दिलीप रे को हुई तीन साल की सज़ा


डीएम राजेश मीणा ने कहा

बिहार  के मुंगेर के डीएम राजेश मीणा ने कहा कि दुर्गा पूजा के विसर्जन के समय कुछ शरारती तत्वों के द्वारा रोड़े बाजी की घटना हुई है और इसके साथ ही पुलिसकर्मी पर भी गोली चलाई गई, जिसकी वजह से कई पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं और एक व्यक्ति की मौत हो गई।

मुंगेर: विसर्जन के दौरान पुलिस और स्थानीय लोगों में हिंसक झड़प, एक की मौत, दो दर्जन घायल - bihar munger violence police local people death toll SP lipi Singh - AajTak

ख़बरों से पता चला है कि इस घटना के बाद भीड़ हिंसक हो गई और उसने पुलिस पर हमला कर दिया जिसमें संग्रामपुर थानाध्यक्ष सर्वजीत कुमार, कोतवाली थानाध्यक्ष संतोष कुमार सिंह, कासिम बाजार थानाध्यक्ष शैलेश कुमार समेत 17 पुलिसकर्मी जख्मी हुए हैं।

एसपी लिपि सिंह ने कहा-भीड़ ने  चलाई गोलियां पुलिस पर, जिससे एक व्यक्ति की मौत हो गई

मुंगेर: मूर्ति विसर्जन के दौरान हिंसक झड़प, एक की मौत, पांच घायल

पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह ने बताया कि इस घटना में कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं और कुछ की हालत तो बहुत गंभीर बनी हुई है। एसपी ने कहा भीड़ ने पुलिस पर गोलियां चलाई, जिस वजह से एक व्यक्ति की मौत भी  हो गई ।उन्होंने कहा, “कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए पूरे शहर में फ्लैग मार्च निकाला जा रहा है। एसपी ने लोगों से अपील किया कि किसी भी अफवाह पर ध्यान ना दें और बताया कि फ़िलहाल स्थिति अभी नियंत्रण में है।

पुलिस ने 100 से भी ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया है इस घटना के बाद और उनसे पूछताछ जारी है। ख़बरों से पता चला है कि पुलिस ने घटनास्थल से तीन देसी कट्टे और 12 खोखे बरामद किए हैं। पुलिस ने यह भी बताया कि असामाजिक तत्वों ने 12 राउंड फायरिंग की थी।

Digiqole Ad Digiqole Ad

democratic

Related post