बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजों से पहले ही कांग्रेस को अपने विधायक टूटने का डर

बिहार विधानसभा में के नतीजों से पहले ही दिल्ली से दो वरिष्ठ नेता पहुंचे पटना

बिहार विधानसभा चुनाव के खत्म होते ही विभिन्न चैनलों ने अपने अपने सर्वे और अनुमान आदि के मुताबिक़ बताना शुरू कर दिया है कि बिहार में किसकी सरकार बनने वाली है। अगर न्यूज़ चैनलों की अनुमान सटीक बैठती है तो उनके मुताबिक़ इस बार सीएम की कुर्सी बिहार के पूर्व उपमुख्यमंत्री और लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी को मिलने वाली है।

तेजस्वी ने  कांग्रेस और अन्य पार्टियों के साथ मिलकर महागठबंधन बना कर चुनाव लड़ा था।

बिहार चुनाव: नतीजों से पहले कांग्रेस में हलचल शुरू, पटना पहुंचे सुरजेवाला - प्रेस रिव्यू - BBC News हिंदी

बिहार विधानसभा एग्जिट पोल में महागठबंधन को बहुमत मिलने की संभावना 

महागठबंधन की सरकार बनते देख कांग्रेस के खेमे में भी उत्साह का माहौल है लेकिन इस साथ ही कांग्रेस कोई जोखिम लेना नहीं चाहती। पिछले कुछ चुनाव में जिस तरीके से कम सीटें आने के बाद भी जिस तरह भाजपा ने कांग्रेस खेमे से विधायकों को अपने खेमे में लेकर सरकार बना ली इससे सबक लेते हुए कांग्रेस ने पहले ही नीति बना ली है।

Bihar Assemby Election 2020 Live & Latest Updates: आरजेडी और जेडीयू के संभावित उम्मीदवारों के नाम आए सामने, देखिए किसे मिल सकता है टिकट

मतगणना के बाद अगर भाजपा और महागठबंधन में कड़ी टक्कर मिलती है तो सीटों की भी अहमियत बढ़ जाती है। इसी को ध्यान में रखते हुए कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पार्टी के दो वरिष्ठ नेता पार्टी महासचिव अविनाश पांडे और रणदीप सिंह सुरजेवाला को पटना भेजा है। दोनों को चुनाव नतीजों के बाद पार्टी के प्रबंधन की जिम्मेदारी दी गई है। 

कांग्रेस महासचिव सुरजेवाला ने पटना पहुंचने के बाद कहा कि जनता ने वोट सिर्फ सत्ता परिवर्तन के लिए नहीं बल्कि व्यवस्था परिवर्तन के लिए दिया है। एग्जिट पोल के जो नतीजे बताए जा रहे हैं महागठबंधन कहीं उससे से ज्यादा सीटों से प्रदेश में सरकार बनाएगा। उन्होंने कहा कि जनता ने इस बार नौजवान और  किसान का विरोध करने वाली बेरोजगारों को दर-दर भटकने वाली सरकार के खिलाफ वोट किया है।

10 नवंबर यानी कल मंगलवार को बिहार विधानसभा के नतीजे आएंगे 

ग़ौरतलब है कि बिहार विधानसभा में कुल 243 सीटें है, और किसी भी पार्टी या गठबंधन को  बहुमत के लिए 122 का जादुई आंकड़ा चाहिए। तीसरे और आखिरी चरण का मतदान सात नवंबर को खत्म होते ही न्यूज़ चैनलों के  एग्जिट पोल  में महागठबंधन को 150 तक सीटें दिखा रहे हैं। इसके साथ ही कई चैनलों में करीब लड़ाई की आशंका जताई है।

चुनाव परिणाम आने के पहले ही कांग्रेस को सताने लगा ये डर,कई राज्यों के बड़े नेताओं ने डाला डेरा | Bihar Election: Before the election results come, Congress started to fear, big

फिलहाल इस बार कांग्रेस किसी भी तरह का जोखिम लेने के पक्ष में नहीं है क्यों की उसे इसी तरह के माहौल में कई बार सत्ता से दूर होना पड़ा है। अब देखना है कि कल नतीजों में क्या निकलता है, किसी एक दल या गठबंधन को बहुमत मिल जाती है या फिर जोड़ तोड़ की जरूरत पड़ सकती है। 

Digiqole Ad Digiqole Ad

Shreya Sinni

Related post