76 मासूम बच्चों को बचाने वाली महिला कॉन्स्टेबल को हासिल हुई तरक्की

लापता हुए 76 बच्चों को ढूंढने वाली महिला कॉन्स्टेबल को बिना बारी तरक्की देने का फैसला

दिल्ली पुलिस की ओर से इस मासूम बच्चों को बचाने वाली महिला कॉन्स्टेबल को बिना बारी तरक्की देने का फैसला किया गया है। बरामद किए गए बच्चों में अधिकतर बच्चों की उम्र 14 वर्ष से भी कम की बताई जा रही है। दिल्ली पुलिस की ओर से जारी किए गए बयान में बताया गया कि इसी साल के अगस्त महीने में पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने लापता हुए बच्चों को खोजने के काम को प्रोत्साहन देने के लिए यह घोषणा की थी जिसके तहत कोई भी हेड कॉन्स्टेबल या सामान्य कॉन्स्टेबल अगर एक कैलेंडर वर्ष में 14 साल से कम उम्र के न्यूनतम 50 बच्चों को बरामद कर लेगा तो उसे बिना बारी तरक्की सीधी तौर पर दी जाएगी।

Delhi policewoman who rescued 76 missing kids gets out-of-turn promotion

इसमें यह भी कहा गया था कि करीब 50 बच्चों की उम्र 15 वर्ष से कम होनी चाहिए। खुशी की बात यह है किस समय पुर बादली थाना में तैनात सीमा ढका ने पुलिस आयुक्त को निराश नहीं किया और समय रहते 76 बच्चों को ढूंढ निकाला। इसमें लगभग 56 बच्चे 14 वर्ष से कम उम्र के थे।दिल्ली पुलिस ने खुशी जाहिर करते हुए यह भी कहा कि अब तक इस पूरे अभियान में करीब 1440 बच्चों की बरामदगी हो गई है और आगे भी तलाश जारी है। देश के विभिन्न क्षेत्रों से गायब हुए बच्चे जैसे कि बिहार बंगाल को भारत के विभिन्न हिस्सों में अभियान के तहत ढूंढा गया।


और पढ़ें :जनवरी में हुए जेएनयू हिंसा के मामले में पुलिस ने अपने आप को दिया क्लीन चिट


महिला कॉन्स्टेबल सीमा ने प्रमोशन की खबर मिलने पर खुशी जताई

दिल्ली के समय पुर बादली में तैनात हेड कांस्टेबल सीमा को आउट ऑफ टर्न प्रमोशन मिलने पर परिवार समेत खुद सीमा ने खुशी जताई है। उन्होंने खुद की जान पर जोखिम उठाते हुए लापता हुए 76 बच्चों को सही सलामत ढूंढ निकाला था जो आज अपने मां-बाप के पास खुशी – खुशी रह रहे हैं। यह अपने आप में एक महिला हेड कांस्टेबल के लिए बड़ी उपलब्धि है।

Cop who rescued 76 kids gets out-of-turn promotion | Cities News,The Indian Express

पुलिस कमिश्नर ने इस मामले में सीमा को आउट ऑफ टर्न प्रमोशन देकर यह बात साबित कर दी कि लगन से किए गए काम को शाबाशी जरूर मिलती है। और महिला कॉन्स्टेबल का यह कार्य उनके सहपाठियों को भी अच्छा काम करने के लिए प्रेरित करेगा।

Seema Dhaka rescued 76 children in 3 months, got promotion - allnewsflash

आपको बता दें की बच्चा ढूंढने वाला अभियान दिल्ली पुलिस की ओर से अगस्त के महीने में शुरू हुआ था और अब तक इस मामले में करीब 1440 बच्चों को ढूंढ निकाला गया है। 2629 बच्चों को ट्रेस भी किया जा चुका है। 2019 में लगभग 5000 बच्चों की मिसिंग रिपोर्ट दर्ज़ हुई थी जिसमें करीब 3000 बच्चों को दिल्ली पुलिस की ओर से सही सलामत ढूंढ निकाला गया है। यह अभियान अभी भी देश के कई राज्यों में चलाया जा रहा है और उम्मीद के मुताबिक आने वाले दिनों में और भी बच्चों को ढूंढा जाएगा।

Digiqole Ad Digiqole Ad

Aparna Vatsh

Related post