पटना में नये कृषि क़ानून के खिलाफ राजभवन मार्च के लिए निकले प्रदर्शनकारियों  पर लाठीचार्ज

राजभवन मार्च के लिए निकले प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज

केंद्र सरकार द्वारा पारित तीन नए कृषि सुधार क़ानून को वापस लेने की मांग को लेकर देशभर में प्रदर्शन के बीच आज बिहार में राजभवन मार्च जा रहे हजारों प्रदर्शनकारियों को रोकने के लिए पुलिस ने लाठीचार्ज किया। पुलिस की  लाठीचार्ज में कई लोगो को हल्की चोट भी आयी है।

राजभवन मार्च

भीड़ को तितर बितर करने के इरादे से किया गया लाठीचार्ज

कृषि बिल के खिलाफ अपना विरोध जताने के लिए राज्य के विभिन्न कोने से इकट्ठा हुए किसान और विपक्षी दल के कार्यकर्ताओं ने पटना की सड़कों पर मंगलवार को राजभवन मार्च किया। किसानों का मार्च गांधी मैदान से निकलकर राजभवन की ओर से बढ़ रहा था। तभी डाक बंगला चौराहा पर पुलिस ने आंदोलनकारियों को आगे बढ़ने से रोक दिया। किसान आगे राजभवन की ओर जाना चाहते थे लेकिन पुलिस ने किसी को आगे बढ़ने की इजाजत नहीं दी।


और पढ़ें : मनोज कुमार 225 किलोमीटर साइकिल चलाकर हुए किसान आंदोलन में शामिल


विभिन्न संगठनों के लोगो के इकट्ठा होने से आम लोगों को भी हुई परेशानी

राजभवन मार्च

किसान बार-बार कृषि बिल वापस लेने की मांग कर रहे थे। डाक बंगला चौराहा पर काफी देर तक हंगामा होने के बाद आसपास के इलाकों में जाम लग गया। जाम के कारण गांधी मैदान से लोगों को आगे बढऩा मुश्किल हो गया था। जमाल रोड, एक्जीविशन रोड, सहित कई सड़कों पर जाम लगने से राहगीरों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा। यह प्रदर्शन अखिल भारतीय कृषि समन्वय समिति की ओर से आयोजित की गई थी। पहले से निधार्रित इस कार्यक्रम को गांधी मैदान से शुरू किया गया था। और यहां से राजभवन के तरफ पैदल कूच किया गया था जिसे पुलिस ने विफल कर दिया।

राजभवन मार्च में कई आंदोलनकारियों को आएं चोटें 

 डाकबंगला चौराहे पर रोके जाने के बाद किसानों और पुलिस के धक्का-मुक्की शुरू हो गई। जब भीड़ अनियंत्रित होने लगी तो पुलिस ने लाठीचार्ज कर कंट्रोल करने की कोशिश की। पुलिस द्वारा लाठीचार्ज करने के बाद भगदड़ मच गई। इसी दौरान भाग रहे किसानों को भी पुलिस ने दौड़ाकर पीटा। कई किसानों ने गलियों में छिपकर जान बचाई और कई महिलाएं जो नहीं भाग सकी  सड़कों पर गिर गईं जिससे उन्हें काफी चोट पहुंची जिसको देखते उन्हें पीएमसीएच भी भेजा गया है।

 

Digiqole Ad Digiqole Ad

Shreya Sinni

Related post