केरल की पहली ट्रांसजेंडर आयुर्वेदिक डॉक्टर प्रिया

ट्रांसजेंडर आयुर्वेदिक डॉक्टर डॉ प्रिया

हमारे समाज में पहले से काफी बदलाव आए है लेकिन हम सभी जानते है कि आज भी ट्रांसजेंडर को लोग हीन भाव से देखते है इसके साथ ही उन्हें अपने घर से भी पर्याप्त सहयोग नहीं मिलता। लेकिन इसी बीच कुछ कहानियां इसके विपरित भी मिलती है जहां परिवार के सहयोग से वह लोग एक अच्छी जिंदगी की ओर बढ़ रहे है। ऐसे ही कहानी है प्रिया की जो केरल की पहली ट्रांसजेंडर डॉक्टर बनी है।  

 ट्रांसजेंडर डॉक्टर

“शिक्षा को बनाया एक अच्छे जीवन जीने का रास्ता”

केरल के थरिस्सुर जिले की रहने वाली प्रिया का जन्म जिनु ससिधरन नाम के लड़के के रूप में हुआ परन्तु  प्रिया ने बचपन में अपने अंदर लड़की की पहचान की। पर   शर्मिंदगी और लोगो के डर से वह इस बारे में कभी किसी से बात नहीं कर पाई।  अपने इस संघर्ष के बारे में प्रिया बताती है कि, “मैंने महसूस किया कि मेरे लिए एक लड़के के रूप में रहना मुश्किल होगा। इसलिए इस बात पर शोध करना शुरू कर दिया कि संकट को कैसे संभालना है। सबसे पहले मैंने एक बेहतर शिक्षा प्राप्त करने की योजना बनाई।”

 ट्रांसजेंडर डॉक्टर

प्रिया बताती है कि उनके माता पिता दोनों ही नर्स है और वह उसे डॉक्टर बनाना चाहते थे परन्तु वह शिक्षक बनना चाहती थी। लेकिन माता पिता के लिए मैंने सभी नकारात्मक टिप्पणियों को अनदेखा करते हुए वैद्यरत्नम से बीएएमएस पूरा किया। इस्क बाद मैंने मंगलुरु से एमडी लिया। पढ़ाई पूरी करने के बाद  पट्टांबी, कन्नूर और थ्रीपुनिथुरा में सेवा करते हुए मैं अपने आप में परिवर्तन लाने की तैयारी शुरू कर दी।


और पढ़ें :यूपी में धर्मांतरण विरोधी क़ानून के मामले में आरोपी मुस्लिम युवक के खिलाफ पुलिस के पास कोई ठोस सबूत नहीं


माता-पिता ने मानसिक और आर्थिक रूप से किया पूरा सहयोग 

 ट्रांसजेंडर डॉक्टर

डॉ वीएस प्रिया कहते हैं वह अपने माता-पिता के सामने अपनी असली पहचान बताने से डरती थी। वह कहती है, “मुझे नहीं पता था कि वह इस बात को कैसे समझेंगे इसलिए मैंने उस समय अपनी समस्याओं को सिर्फ अपनी डायरी में लिख सकता था। हालांकि अन्य ट्रांसजेंडर के विपरीत जब मैंने  साल 2018 में माता पिता को अपनी असली पहचान के बारे में बताया तो उन्होंने मुझे समझा और उनके सहयोग से ही मुझे अपने सपने को प्राप्त करने में मदद मिली। “

हार्मोन उपचार हो गई है पूरी,एक नारी के रूप में शुरूवात की लेकर है खुश

 ट्रांसजेंडर डॉक्टर

आज छह सर्जरी से गुजरने के बाद डॉ प्रिया कहती हैं, “मेरी दो और सर्जरी वॉयस थेरेपी और कॉस्मेटिक सर्जरी बाकि हैं। सर्जरी की लागत जरूरतों के हिसाब से अलग-अलग होती है। एक सामान्य प्रत्यारोपण सर्जरी में 3 लाख रुपये तक खर्च होते हैं लेकिन मैं चाहता था कि यह सही हो। इसलिए मैंने 8 लाख रुपये की महंगी सर्जरी का विकल्प चुना। मैंने अपनी बचत से पैसों से यह करवाना चाहता था लेकिन इसका 95 प्रतिशत हिस्सा मेरे माता-पिता ने दिया। ”

डॉ प्रिया कहती है,” मैंने अपने भीतर की शारीरिक और मानसिक असमानता को सफलतापूर्वक दूर कर लिया है। जीवन अनमोल है इसलिए मुझे अपनी पहचान छिपाने के लिए मुखौटा की आवश्यकता नहीं है। मैं अपने भविष्य के बारे में परेशान नहीं हूं। क्योंकि मैं केवल अपने वर्तमान के बारे में सोच रहा हूं। मैं अपने जीवन को खराब करने के लिए इच्छुक नहीं हूं।” 

Digiqole Ad Digiqole Ad

Shreya Sinni

Related post