सोशल एक्टिविस्ट नवदीप कौर बोली “मेरे साथ हुआ है अन्याय, लडूंगी केस”

सोशल एक्टिविस्ट नवदीप कौर बोली “मेरे साथ अन्याय हुआ है, लडूंगी केस”

सोशल एक्टिविस्ट नवदीप कौर को पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट द्वारा जमानत मिल गई है। जेल से बाहर आते ही कौर ने आरोप लगाया कि उन्हें मजिस्ट्रेट के सामने पेश ही नहीं किया गया था इतना ही नहीं उन्होंने पुलिस पर यौन उत्पीड़न का भी आरोप लगाया है। नवदीप कौर ने कहा है कि वह कानूनी रूप से अपना केस लड़ेंगी। जेल से फौरन बाहर आने के बाद नवदीप कौर ने अपने सारे समर्थकों को धन्यवाद करते हुए कहा कि आज वह उनके बदौलत ही यह जंग लड़ेंगी।

सोशल एक्टिविस्ट

सोशल एक्टिविस्ट नवदीप कौर ने कहा कि आज वह कोर्ट के वजह से जेल से बाहर हैं

कौर आगे कहती हैं कि आज अगर वह बाहर केवल कोर्ट के वजह से हैं। नवदीप कौर ने बार आते ही सिंधु बॉर्डर पर जाने का भी ऐलान किया है। उनका कहना था कि “मेरे साथ अन्याय हुआ है”। भले ही उन्हें जमानत मिल गई हो लेकिन मामला अभी तक साफ नहीं है इसीलिए उन्होंने कहा कि सब कुछ सामने लाया जाएगा। जमानत केस की मेरिट पर दी गई है। अकाली दल के नेता ने कहा कि हम सभी नवदीप कौर का समर्थन करेंगे एक दलित लड़की को चोट पहुंचाई गई है।


और पढ़ें :क्या अब रोजगार मांगने पर नौजवानों पर मुकदमे ठोंके जाएंगे?


जमानत याचिका में आरोप लगाया गया कि उन्हें बुरी तरह पीटा गया 

सोशल एक्टिविस्ट

आपको बता दें नवदीप कौर के जमानत याचिका में पुलिस पर यह आरोप लगाया है कि उन्हें सोनीपत पुलिस स्टेशन में बुरी तरह पीटा गया है। याचिका में यह भी कहा गया कि पुलिस ने नवदीप कौर के बाल पकड़कर उन्हें घसीटा और पिटाई की। उनके शरीर पर काफी चोटें भी आई हैं। याचिका में यह बात भी सामने आई है कि जब 12 जनवरी को नवदीप कौर को थाने ले जाया गया तो उनके साथ कोई भी महिला अधिकारी नहीं थी। हालांकि दूसरी तरफ नवदीप कौर की गिरफ्तारी का विरोध करने के बीच पुलिस का यह दावा है कि कौर ने दस्तावेज छीनने की कोशिश की और पुलिस पर भी हमला किया।

इसके बाद उनकी गिरफ्तारी की गई थी। पुलिस का आरोप है कि नवदीप कौर दो अन्य महिलाओं सहित 50 लोगों के साथ एक कंपनी पर धावा बोल दिया और पैसों की मांग करने के साथ हंगामा करने लगी। पुलिस को जब इस बात की सूचना मिली तो मौके पर पहुंची और आरोपियों से दस्तावेज और बंदूक छीनने की कोशिश करने लगी। इसके बाद आरोपियों ने पुलिस के साथ भी मारपीट शुरू कर दी जिसमें इंस्पेक्टर रवि कुमार और दो कांस्टेबल घायल हो गए थे। घटना के फौरन बाद नवदीप कौर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया और 6 अन्य आरोपियों की तलाश जारी है। हालांकि करीब 1 महीने तक जेल की सलाखों के पीछे रहने के बाद नवदीप कौर को अब जाकर पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट से जमानत मिल गई है

Digiqole Ad Digiqole Ad

Aparna Vatsh

Related post