Mandatory Credit: Photo by JUSTIN LANE/EPA-EFE/Shutterstock (10422662fe) India’s Prime Minister Narendra Modi arrives at the start of an annual luncheon for heads of state on the sidelines the general debate of the 74th session of the General Assembly of the United Nations at United Nations Headquarters in New York, New York, USA, 24 September 2019. The annual meeting of world leaders at the United Nations runs until 30 September 2019. General Debate of the 74th session of the General Assembly of the United Nations, New York, USA – 24 Sep 2019

आखिर चौकीदार को चोर क्यों कह रहे हैं बैंक कर्मचारी?

दरअसल हड़ताल की रणनीति बजट में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के ऐलान के बाद बनी उन्होंने ऐलान किया था कि सरकार दो सरकारी बैंक और एक इंश्योरेंस कंपनी का निजीकरण करेगी। ग़ौरतलब है कि पिछले 4 सालों के दौरान 14 सार्वजनिक बैंक को मर्ज किया गया। अभी करीब 12 सरकारी बैंक है यदि इनमें से भी दो बैंकों का निजीकरण किया जाता है तो इनकी संख्या बस 10 रह जाएगी।

इस संबंध में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ऑफीसर्स एसोसिएशन के महासचिव अजीत कुमार मिश्रा का कहना है कि हड़ताल की वजह से स्टेट बैंक और व्यवसायिक बैंकों की 3978 तथा ग्रामीण बैंकों की 2110 शाखाओं से 70 हजार करोड़ का कारोबार बंद रहेगा।

Digiqole Ad Digiqole Ad

democratic

Related post