6 साल की मासूम बच्ची के साथ गैंगरेप, हत्या, काले जादू के लिए फेफड़े निकाले गए

कानपुर जिले में मृत पाई गई छह साल की एक बच्ची

यह घटना उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के घाटमपुर क्षेत्र की है।जहां छह साल की बच्ची के साथ हुआ गैंगरेप और काले जादू के लिए निकाल लिए बच्ची के फेफड़े। हम आपको बता दें कि दीपावली की रात काला जादू और तंत्र-मंत्र के लिये छह साल की बच्‍ची की हत्‍या से पहले उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया फिर सामूहिक बलात्कार करने के बाद बच्ची का गला दबाकर हत्या कर दिया गया।

इतना ही नहीं हत्या करने के बाद दोनों आरोपियों ने बच्ची के दोनों फेफड़े  निकाल कर मुख्य आरोपी पुरुषोत्तम को दिए कारण पुरुषोत्तम को काला जादू करने के लिए इन अंगों की जरूरत थी। पुलिस ने कहा कि आरोपी अंकुल कुरील (20) और बीरन (31) जिन्हें रविवार को गिरफ्तार किया गया था। उन्होंने काला जादू करने के लिए प्रमुख साजिशकर्ता परशुराम कुरील को फेफड़े सौंपे थे।


और पढ़ें :गांधी के हत्यारे गोडसे को बताया देशभक्त,आलोचना के बाद डिलीट किया ट्वीट


नशे में धुत आरोपियों ने बच्ची का किया अपहरण 

अपर पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) बृजेश श्रीवास्तव ने सोमवार को बताया कि इस वारदात के मामले में पुरुषोत्तम को रविवार को ही ग़िरफ़्तार कर लिया गया था जबकि उसकी पत्नी को वारदात में शामिल होने की आशंका के आधार पर हिरासत में लिया गया है। रिपोर्टों के अनुसार परशुराम ने शुरू में पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की लेकिन बहुत पूछताछ का सामना करते हुए वह टूट गया और अपना अपराध कबूल कर लिया ।

डरावनी! 6 साल की बच्ची से गैंगरेप, उत्तर प्रदेश के कानपुर में काले जादू के लिए लाश को निकाला गया फेफड़ा - V-India

उसने कहा कि उसकी शादी 1999 में हो गई थी लेकिन अब तक उसकी कोई संतान नहीं है। श्रीवास्तव के मुताबिक पुरुषोत्तम ने बताया कि उसे औलाद हासिल करने के लिए काला जादू करने की सलाह दी गई थी इसके लिए किसी बच्ची के फेफड़ों की जरूरत थी इसीलिए उसने अपने भतीजे अंकुल और उसके मित्र बीरन को अपनी पड़ोसी की बच्ची अगवा करने के लिए तैयार किया था। वे उसे पास के जंगल में ले गए जहाँ उन्होंने लड़की को मारने से पहले उसके साथ बलात्कार किया और उसके फेफड़ों को निकाल लिया।आरोपियों पर भारतीय दंड संहिता (आईपीसी) और यौन अपराधों से बच्चों का संरक्षण (POCSO) अधिनियम के तहत आरोप लगाए गए हैं।

 दीपावली की शाम हुई यह दर्दनाक घटना

पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) डॉ. प्रीतिंदर सिंह ने बताया कि घाटमपुर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में रहने वाला परिवार शनिवार को दीपावली की पूजा की तैयारी कर रहा था। करन कुरील की बेटी श्रेया उर्फ भूरी (6) दीपावली की शाम घर के बाहर खेल रही थी। परिवार वालों के मुताबिक जब दीया रखने के लिए के लिए बच्चों को बुलाया गया तो उसकी दोनों बेटियां आईं। लेकिन बीच की बेटी भूरी नहीं आई।

एनकाउंटर के नाम पर 4 आरोपियों को मार डालने के लिए पुलिसवालों के विरूद्ध FIR दर्ज करने की हुई मांग - Crime Nazar : crimenazar.com, क्राइम नज़र, Crime News, Latest Crime

इसके बाद खोजबीन शुरू हुई। उन्होंने बताया कि परिजनों को जब बेटी नहीं दिखी तो उसकी तलाश शुरू हुई। रातभर गांव और परिवार के लोग खोजते रहे लेकिन बच्ची का कुछ पता नहीं चला। रविवार सुबह मंदिर के पास से गुजर रहे ग्रामीणों ने बच्‍ची का शव देखा। एक अन्‍य अधिकारी ने बताया कि लड़की के शरीर पर लगे चोट के निशान से पता चलता है कि उसकी हत्‍या धारदार हथियार से की गई है।बच्ची के सीने के दोनों ओर जख्म थे और हाथ और पैर में रंग लगा था।एक चप्‍पल और कपड़े समेत उसका सामान भी पेड़ के पास से बरामद किया गया है। पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) बृजेश श्रीवास्‍तव ने बताया कि इस सिलसिले में मुकदमा दर्ज़ किया गया है।

https://women.raftaar.in/health/mother/corona-me-kaise-rakhe-garbhwati-mahilaye-apna-dhyan https://gumlet.assettype.com/raftaar/2020-08/a4f50080-6bdb-4ac5-82f1-2518b3f4c2f6 ...

रिपोर्ट्स के मुताबिक मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बच्ची की हत्या की घटना में अपराधियों के विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि मुख्यमंत्री ने शोक संतप्त परिजनों के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए उन्हें पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता दिए जाने के भी निर्देश दिए हैं। सीएम ने कहा है कि प्रदेश सरकार प्रकरण की फास्ट ट्रैक कोर्ट में सुनवाई कराकर अपराधियों को जल्द से जल्द सजा दिलाएगी। तंत्र-मंत्र के लिए लड़की की हत्‍या के संदर्भ में डीआईजी ने बताया कि इसकी पुष्टि के लिए वैज्ञानिक साक्ष्‍य जुटाने को फॉरेंसिक विशेषज्ञों और खोजी कुत्तों की मदद ली जा रही है।

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.