9 हज़ार रूपए में कैसे #Patna के #Safaikarmchari का घर चलता है? फिर से होगी #Safaikarmchari की हड़ताल?

7 सितंबर से पटना के सफ़ाईकर्मचारी हड़ताल पर थें. मांग थी कि उन्हें उचित मानदेय दिया जाए. हालांकि पटना हाईकोर्ट के निर्देश के बाद सफ़ाईकर्मियों ने हड़ताल ख़त्म कर दी लेकिन 2 महीने में अगर मांगे नहीं मानी गयीं तो सफ़ाईकर्मी फिर हड़ताल पर जाने के लिए तैयार हैं. क्या आपने कभी सोचा है कि 9 हज़ार रुपये की तनख्वाह में सफ़ाईकर्मियों का घर कैसे चलता है? शायद सरकार ने भी ये नहीं सोचा तभी 3 सालों से सफ़ाईकर्मियों का वेतन नहीं बढ़ा है. अख़बारों में सफाईकर्मी के हड़ताल से हुई परेशानी का पक्ष तो आप सभी ने पढ़ा है लेकिन इस वीडियो में देखिए कि सफ़ाई कर्मचारी किस दयनीय स्थिति से हर रोज़ गुज़रते हैं. देखिये आमिर की एक रिपोर्ट.

निष्पक्ष और जनहित की पत्रकारिता ज़रूरी है

आपके लिए डेमोक्रेटिक चरखा आपके लिए ऐसी ग्राउंड रिपोर्ट्स पब्लिश करता है जिससे आपको फ़र्क पड़ता है
हम इसे तभी जारी रख सकते हैं अगर आप हमारी रिपोर्टिंग, लेखन और तस्वीरों के लिए हमारा सहयोग करें.