5 दिनों के अंदर बिहार में 11 पुलों ने की आत्महत्या, इस बार मधुबनी का निर्माणाधीन पुल गिरा

शुक्रवार को मधुबनी में भुतही नदी पर करीब 3 करोड़ की लागत से बन रहा पुल का गार्डर बह गया. पुल का निर्माण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बिहार सरकार के ग्रामीण विकास विभाग की तरफ से कराया जा रहा है.

author-image
सौम्या सिन्हा
एडिट
New Update
मधुबनी में निर्माणाधीन पुल का बीम गिरा

मधुबनी में निर्माणाधीन पुल का बीम गिरा

बिहार में बीते 11 दिनों में पांच पुल गिरने की घटनाएं दर्ज की गई है. पिछले 11 दिनों में राज्य के अलग-अलग जिलों में बारिश, तेज बहाव, कटाव और क्षतिग्रस्त पुल गिरने का सिलसिला देखा गया है. इसी कड़ी में अब बिहार के मधुबनी में भी निर्माणाधीन पुल का गार्डर गिरने की खबर आई है. शुक्रवार को मधुबनी में भुतही नदी पर करीब 3 करोड़ की लागत से बन रहा पुल का गार्डर बह गया.

Advertisment

भुतही नदी पर पुल का निर्माण पिछले 4 वर्षों से कराया जा रहा है. 75 मीटर लंबे इस पुल का 25 मीटर लंबा बीम नदी में समा गया. बताया जा रहा है कि नदी का जलस्तर बढ़ने की वजह से पुल का बीम गिर गया. पुल का निर्माण प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बिहार सरकार के ग्रामीण विकास विभाग की तरफ से कराया जा रहा है. गनीमत रही कि इस पुल दुर्घटना में किसी के भी हताहत होने की कोई सूचना नहीं है.

खबरों के मुताबिक दो दिन पहले ही गार्डर के ढलाई का काम हुआ था. गार्डर में जो सेंट्रल बनाई गई थी, वह पानी के तेज बहाव में बह गई, जिससे पुल का हिस्सा गिर गया.

बता दें कि बिहार में पिछले 11 दिनों में यह पांचवें पुल गिरने की घटना है. राज्य में कई पुल निर्माण में लापरवाही और भ्रष्टाचार की वजह से अब तक इसकी भेंट चढ़ चुके हैं. 18 जून को अररिया में 12 करोड़ की लागत से बकरा नदी पर बन रहा पुल ध्वस्त हो गया, जिसके बाद 22 जून को सिवान में गंडक नदी पर बन रहा पुल धराशाई हुआ. 23 जून को पूर्वी चंपारण में डेढ़ करोड़ की लागत से बन रहा पुल गिर गया. 27 जून को किशनगंज में भी सहायक नदी पर बना पुल का हिस्सा पानी में धस गया. इतने पुल गिरने के बाद भी राज्य सरकार अपनी जवाबदेही देने से बच रही है.

Bihar bridge collapsed Bihar NEWS bridge collapsed in madhubani