RodBez: एक ड्राइवर के बेटा कैसे दे रहा ओला-उबर को टक्कर?

‘जात- Entrepreneur और गोत्र-ढीठ बिहार’ ये जातिवाद का गढ़ बिहार में सहरसा के दिलखुश कुमार का फेसबुक पर इंट्रो हैं. दिलखुश कुमार बिहार के सहरसा जिला स्थित राज्य का पहला डिजिटल गांव ‘बनगांव’ के निवासी हैं. दिलखुश आज कोसी क्षेत्र में किसी पहचान के मोहताज नहीं हैं. आजकल दिलखुश अपनी इस क्षेत्रीय पहचान को राज्य […]

कूड़ा चुनने वाली ज्योति आज पटना में चलाती हैं कैफ़े, रेनबो होम ने संवारा भविष्य

कई बार जीवन में हमें जो हासिल करना होता है उस रास्ते में कई बाधाएं होती हैं, लेकिन फिर भी हम उसे हासिल करने की जी तोड़ कोशिश करते हैं और आखिर में उसे हासिल भी करते हैं. ये लाइन कई लोगों को थोड़ी फ़िल्मी लग सकती है लेकिन ये ज्योति की ज़िन्दगी की हकीकत […]

#DCimpact: पटना यूनिवर्सिटी में नेत्रहीन छात्रों के लिए टॉकिंग लाइब्रेरी की शुरुआत

पटना यूनिवर्सिटी में 45 नेत्रहीन छात्र पढ़ाई करते हैं. इनकी पढ़ाई के लिए यूनिवर्सिटी की ओर से क्लासरूम में रिकॉर्डर या टॉकिंग लाइब्रेरी की सुविधा नहीं थी. आफ़ताब आलम इसी ब्लाइंड हॉस्टल के एक छात्र हैं और हिंदी में एम.ए. की पढ़ाई कर रहे हैं. आफ़ताब आलम डेमोक्रेटिक चरखा से बात करते हुए बताते हैं […]