शादी के पहले तक बस दिखावे की खूबसूरती मेंटेन करनी पड़ती है?

एक सरकारी नौकरी वाले को बाहरी सुंदरता के साथ अच्छे दहेज देने वाला परिवार. एक प्राइवेट नौकरी वाले को सुंदर के साथ कमाने वाली लड़की. बाहरी सुन्दरता के आधार पर ही शादी होती है.

New Update
दिखावे की खूबसूरती

दिखावे की खूबसूरती

मेरी दोस्त अंजलि जब 14 साल की थी तब उसे यह नहीं पता था कि उसकी शादी की तैयारी जन्म के साथ ही शुरू हो गई है. 14 साल की उम्र में उसे इस बात का एहसास हुआ कि पढ़ाई-लिखाई, खेलकूद, मौज-मस्ती सब एक समय के लिए ही है, इसके बाद खूबसूरती के आधार पर मेरा चयन किया जाएगा और फिर मेरे घर से मेरी विदाई हो जाएगी.

Advertisment

अंजलि को इस बात का अंदाजा तब लगा जब वह एक दिन अपने घर के बाहर भाई-बहनों और दोस्तों के साथ खेल रही थी. उसके घर के बाहर टाइल्स का एक सीढ़ी नुमा स्ट्रक्चर था, जिसका इस्तेमाल गाड़ियों को घर में ले जाने के लिए कराया जाता है. खेल-खेल में अंजलि की बहनों ने उसे लड़कों वाले काम ना करने का चैलेंज दे दिया, जिसे उसने अपने ईगो पर ले लिया. वह बचपन से ही लड़कों और लड़कियों वाले काम के भेदभाव पर चढ़ती थी और उन सभी काम को करने की कोशिश करती थी, जिन्हें लड़कों तक सीमित रखा गया है. इस दिन खेल के दौरान उसकी बहनों ने मोटरसाइकिल को टाइल्स की सीढ़ी से घर के अंदर ले जाने का चैलेंज दे दिया. अंजली ने चैलेंज तुरंत स्वीकार किया और अपने से दोगुनी भारी गाड़ी को घसीट कर टाइल्स की सीढ़ी पर चढ़ाने लगी. इस दौरान उसे यह ध्यान नहीं था कि थोड़ी देर पहले ही बारिश हुई थी और सीढ़ी पर पानी है. गाड़ी को चढ़ाने के दौरान तुरंत ही टाइल्स पर उसका पैर फिसल गया और वह मोटरसाइकिल लेकर ही टाइल्स पर औंधे मुंह गिर गई.

लड़की की सबसे बड़ी उलझन

अंजलि के गिरने के बाद उसकी सभी बहनों ने भाई की तरफ मोटरसाइकिल हटाने के लिए देखा. भाई ने भी बात समझ ली कि अंजलि को दी हुई चुनौती में घर की सभी लड़कियों की हार हुई है. वह एक बड़ी सी मुस्कुराहट अपने चेहरे पर लिए आगे बढ़ा और मोटरसाइकिल हटाकर अंजलि को उठाया. अंजलि उठी तो, लेकिन उसके आगे का एक दांत आधा टूट चुका था. टाइल्स पर गिरने के कारण उसके सर में भी सामने की ओर थोड़ी चोट आई थी, जिससे खून निकल रहा था. घर के लोगों ने उसे अस्पताल में भर्ती कराया, जहां थोड़े इलाज के बाद अंजलि घर लौट आई. लेकिन घर आने के दौरान उसे अपने चाचा-चाची से बहुत कुछ सुनना पड़ा. दांत आधा टूट जाने के बाद उसे मालूम चला कि एक लड़की की खूबसूरती में दांत भी चार चांद लगाता है. सर में छोटी सी चोट के बाद उसे पता चला कि आगे चलकर उसकी शादी में घर वालों को कितने पापड़ बेलने पड़ेंगे. पूरे रास्ते उसे यह एहसास दिलाया गया कि आखिर उसने लड़कों के किए जाने वाले काम को अपने हाथ में क्यों लिया.

रास्ते में उसे पता लगा कि जब से उसका जन्म हुआ है तब से ही उसकी शादी के लिए पैसे, गहने और सामान जोड़े जा रहे हैं, ऐसे में दांत की एक चोट से शादी के समान में और बढ़ोतरी हो सकती है. आधे घंटे के उस रास्ते में अंजलि समझ चुकी थी कि उसके एक दांत ने सिर्फ उसके ही नहीं बल्कि चार और बहनों की शादी का खर्चा बढ़ा दिया था.

Advertisment

आज अंजलि 26 साल की है और उसके लिए रिश्ता ढूंढा जा रहा है. एक तरफ लड़कों को अंजलि की बिना हंसी वाली तस्वीर भेजी जा रही है, तो दूसरी ओर उसे दांत में कैप लगवाने के लिए डॉक्टर के पास भेजा जा रहा है. कई बार लड़के वालों ने अंजलि के बाहरी फीचर के आधार पर उसे रिजेक्ट कर दिया है.

मैंने अंजलि से एक बार पूछा कि उन्हें किस तरह की लड़का चाहिए? इस पर अंजलि ने मुझे बताया कि एक सरकारी नौकरी वाले को बाहरी सुंदरता के साथ अच्छे दहेज देने वाला परिवार. एक प्राइवेट नौकरी वाले को सुंदर के साथ कमाने वाली लड़की.

 

रिश्ते हाथ से जाने के बाद अंजलि को हर तरफ से दांत ठीक करवाने के लिए फोन आते हैं. तो दूसरी ओर से किसी भी तरह की नौकरी लेने के लिए भी प्रेशर दिया जाता है. बाहर पढ़ाई के दौरान भी उसके घर से कई बार दांत का बाहर यह इलाज करने के लिए दबाव दिया गया. हालांकि अंजलि को अपने एक आधे टूटे दांत से कोई दिक्कत नहीं है. वह हमेशा ही अपनी खूबसूरती को पसंद करती आई है, लेकिन परिवार वालों ने उसे हमेशा दूसरों की नजर से खूबसूरत बनने की सलाह दी है. 

यह खूबसूरती निकलने का सिलसिला एक समय के बाद थम जाता है. अमूमन देखा जाता है कि मां-बाप तब तक ही अपनी बेटियों के चोट, दाग- धब्बे, सांवलेपन, दुबलेपन, नाटेपन जैसे फीचर को छुपाने की कोशिश करते हैं, जब तक बेटी की विदाई नहीं हो जाती है. विदाई के बाद मानो उनके खूबसूरती के मायने बदल जाते हैं. मैंने अक्सर लोगों को कहते सुना है कि शादी के बाद पति और बच्चों में औरत की जिंदगी सिमट कर रह जाती है, ऐसे में वह अपने ऊपर ध्यान नहीं दे पाती. लेकिन क्या शादी के पहले भी एक लड़की पढ़ाई, करियर, घर का काम, किचन का काम इन सब में नहीं उलझी रहती? क्या शादी के पहले तक बस दिखावे की खूबसूरती मेंटेन करनी पड़ती है?

maintain the beauty of women till marriage beauty of appearance