Impact Stories

सारबकोठी गांव में आज़ादी के बाद से नहीं पहुंची थी बिजली, अब जाकर लगे बिजली के तार और पोल

बिहार के बेगूसराय के इलाके में बखरी विधानसभा है. बखरी विधानसभा आरक्षित सीट है. बखरी में अधिकांश लोग दलित ही हैं. शायद इसी वजह से पूरे बेगूसराय में सबसे कम विकास बखरी में ही हुआ है. बखरी में बाघबन पंचायत में कई ऐसे गांव हैं जहां आजतक बिजली ही नहीं पहुंची थी. डेमोक्रेटिक चरखा ने अप्रैल 2021 में इस पंचायत में बिजली नहीं पहुंचने की रिपोर्ट बनाई थी.

बाघबन पंचायत में एक गांव है साबरकोठी, इस गांव में आज़ादी के 73 सालों के बाद भी बिजली नहीं पहुंची थी. हमारे ग्रामीण पत्रकार अरुण सम्राट जब अप्रैल में गांव पहुंचे थें उन्होंने देखा था कि इस गांव में एक भी बिजली का खंभा भी नहीं लगा हुआ है. लेकिन आज इस गांव में हर जगह बिजली के तार और खंभे लग चुके हैं.

मनु सदा इसी गांव के निवासी हैं. अप्रैल में जब अरुण सम्राट गांव में रिपोर्ट बनाने गए थे तब उन्होंने थोड़ी नाराज़गी ज़ाहिर करते हुए कहा था

“हम लोग के किस्मत में अंधेरा ही है. आप आइये मोबाइल से वीडियो लीजिये और जाइए, लेकिन हमारे यहां कुछ नहीं बदल पायेगा.”

आज जब अरुण सम्राट दुबारा उस गांव में पहुंचे तो मनु सदा उनसे ख़ुद मिलने पहुंचे और कहा कि मैं कैमरा पर कुछ बोलना चाहता हूं. मनु सदा ने कहा

“आप लोग आये और आपके वीडियो के बाद हमारे गांव में बिजली का खंभा भी लग गया और तार भी. हमलोग के घर में बिजली का मीटर लग रहा है. अब हमलोग के गांव में भी बिजली आ जायेगी.”

डेमोक्रेटिक चरखा की टीम ने इस रिपोर्ट में बदलाव लाने के लिए कई बार प्रखंड विकास पदाधिकारी के पास गए थें. आज जब हमारी टीम प्रखंड विकास पदाधिकारी, बखरी से मिलने पहुंची तो वो अपने ऑफिस में मौजूद नहीं थे लेकिन टेलीफोनिक बातचीत में उन्होंने कहा

“आपके पत्रकारों का मैं धन्यवाद देता हूं कि आप लोग ऐसे मुद्दे उठा रहे हैं हमारा ध्यान आकृष्ट कर रहे हैं जो हमारे समाज के लिए बहुत महत्वपूर्ण है.”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *