Government schemes Health

टीकाकरण अभियान के दौरान यूपी के मुरादाबाद में हुई एक शख्स की मौत

बता दें कि केंद्र सरकार द्वारा राष्ट्रव्यापी टीकाकरण अभियान के दो दिनों के दौरान देश में करीबन 2.24 लाख से ज्यादा लाभार्थियों को कोविड-19 के टीके लगाये गए हैं। टीकाकरण अभियान के दौरान प्रतिकूल प्रभाव के मात्र 447 मामले सामने आए हैं। इतना ही नहीं केंद्र द्वारा बताया गया है कि इन 447 मामलों में से मात्र तीन व्यक्तियों को अस्पताल में भर्ती कराने की स्थिति पैदा हुई है।

टीकाकरण

मगर इसी बीच यूपी के मुरादाबाद जिले में एक वार्ड बॉय के रविवार को अचानक मौत होने की ख़बर सामने आई है। बताया जा रहा है कि उस व्यक्ति ने 24 घंटे पहले कोरोना का टीकाकरण लगवाया था।

डॉक्टरों ने प्राथमिक रिपोर्ट देख कहा, महीपाल की मौत हार्टअटैक के कारण

जानकारी के मुताबिक़ यूपी के मुरादाबाद जिले में कोरोना टीकाकरण लगवाने वाले इस वार्ड ब्वाय का नाम महिपाल सिंह था। जिसकी उम्र महज़ 46 साल थी। इलाज़ के बाद डॉक्टरों ने कहा कि शुरूआती रिपोर्ट के हिसाब से लग रहा है कि महिपाल की मौत हार्ट अटैक के कारण हुई है। 

टीकाकरण

इस मामले पर सीएमओ ने कहा कि शनिवार को टीका लगवाने के बाद महिपाल बिल्कुल ठीक लग रहे थे एवं अपना काम बढ़िया तरीक़े से कर रहे थे। मगर इसपर वार्ड ब्वाय के बेटे ने बताया कि वैक्सीन लगवाने के बाद से उनके पिता महिपाल की तबीयत पहले की तरह सामान्य नहीं लग रही थी।


और पढ़ें : रोहित वेमुला के नाम: मैं लेखक बनना चाहता था लेकिन सिर्फ़ ये ख़त लिख पाया


परिजनों ने बताया 108 पर दी थी जानकारी, मगर हालत बिगड़ते देख ले जाया गया अस्पताल

टीकाकरण

महिपाल के बेटे ने बताया कि रविवार को उनके पिता को सीने में दर्द और सांस लेने में दिक्कत हो रही थी। जिसके बाद घरवाले उन्हें लेकर जिला अस्पताल पहुंचे थे।और तब डाक्टरों द्वारा महीपाल को मृत घोषित कर दिया गया। जिला अस्पताल में महिपाल सिंह वार्ड ब्वाय के पद पर तैनात थे एवं महीपाल के परिवार में उनकी पत्नी, दो बेटे और एक बेटी है।

ग़ौरतलब है कि महीपाल के परिजनों ने बताया कि इलाज के लिए 108 को फोन करके जानकारी दी गई थी। मगर 108 आने से पहले ही उनकी तबीयत अधिक खराब हो गई। जिसे देख उन्हें अस्पताल ले जाया गया था। मगर उन्हें बचाया नहीं जा सका। वहीं CMO मुरादाबाद ने इस मामले पर बताया कि वैक्सीन का कोई रिएक्शन प्रतीत नहीं हुआ है एवं अचानक हुई मृत्यु के कारण मामले की जांच जारी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *