गिरिडीह में सीएम चंपई सोरेन ने तोहफों की लगाई झड़ी, केंद्र पर लगाया भेदभाव का आरोप

मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने आज गिरिडीह में अबुआ आवास योजना के तहत लोगों के बीच में स्वीकृति पत्र का वितरण किया. मंगलवार को गिरिडीह, धनबाद और बोकारो जिले के लाभुको के बीच में स्वीकृति पत्र दिया गया.

New Update
सीएम चंपई सोरेन पहुंचे गिरिडीह

सीएम चंपई सोरेन पहुंचे गिरिडीह

झारखंड के मुख्यमंत्री चंपई सोरेन ने आज गिरिडीह में अबुआ आवास योजना के तहत लोगों के बीच में स्वीकृति पत्र का वितरण किया. मुख्यमंत्री ने यहां संबोधन शुरू करने के पहले सभी मंत्री, विधायक, प्रधान सचिव समेत पदाधिकारी को जौहर कहते हुए अभिनंदन किया. 

Advertisment

मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में मंच से कहा कि पूर्व सीएम हेमंत सोरेन ने कहा कि झारखंड की बुनियादी समस्या है कि यहां कोयला, यूरेनियम, तांबा, अवरक पत्थर है, लेकिन झारखंड की धरती के लोगों का साथ किसी ने नहीं दिया. कोई विस्थापन को झेल रहा है. पहले इंदिरा आवास और फिर पीएम आवास के तहत साल 2022 में सभी को पक्का मकान देने का वादा किया गया था, लेकिन झारखंड के लोगों के साथ यह नहीं किया गया. सीएम ने मंच से आरोप लगाया कि हेमंत सोरेन के आग्रह पर भी केंद्र सरकार ने योजना के लिए राशि नहीं दी. केंद्र ने झारखंड के साथ भेदभाव किया है. इसलिए हमें अबुआ आवास योजना को लाना पड़ा. 

सीएम ने आगे कहा कि झारखंड से कोयला गुजरात, महाराष्ट्र, दिल्ली में जाता है. झारखंड के कोयले से ही इन राज्य में उजाला है, लेकिन झारखंड वंचित है. 

सीएम ने आज के कार्यक्रम से गिरिडीह, धनबाद और बोकारो जिले के लाभुको के बीच में स्वीकृति पत्र का वितरण किया. मंगलवार को चयनित लाभुकों के खाते में पहली किस्त की राशि भेज दी गई. सभी चयनित लाभुको को 150 बसों से गिरिडीह के कार्यक्रम स्थल पर लाया गया.

हेमंत सोरेन ने पीएम आवास योजना के तर्ज पर अबुआ आवास योजना की शुरुआत की थी. योजना के तहत वैसे लोग जिनके पास पक्का मकान नहीं है उनसे आवेदन मांगे गए थे.

jharkhand Abua Housing Scheme giridih cmchampaisoren