CM चंपई सोरेन का चुनावी दांव, सितंबर तक राज्य में भरे जाएंगे शिक्षकों के इतने पद

राज्य सरकार ने बीते दिनों ही बंपर शिक्षक भर्ती की घोषणा की थी. उसके बाद महिलाओं को 1 हजार रूपए देने की घोषणा, मुफ्त बिजली की घोषणा की गई थी. अब राज्य सरकार ने चुनाव के पहले इसी कड़ी में नए निर्देश जारी किए है.

New Update
CM चंपई सोरेन का चुनावी दांव

CM चंपई सोरेन का चुनावी दांव

झारखंड में विधानसभा चुनाव(Jharkhand Assembly election) की तैयारियों का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि आयदिन चंपई सरकार राज्य के लिए कई नई योजनाओं की शुरुआत कर रही है. राज्य सरकार ने बीते दिनों ही बंपर शिक्षक भर्ती की घोषणा की थी. उसके बाद महिलाओं को 1 हजार रूपए देने की घोषणा, मुफ्त बिजली की घोषणा की गई थी. अब राज्य सरकार ने चुनाव के पहले इसी कड़ी में नए निर्देश जारी किए है. सोमवार को सीएम चंपई सोरेन ने झारखंड में 26 हजार सहायक शिक्षकों की भर्ती का निर्देश दिया है, जिसे 5 सितंबर तक पूरा करने के लिए कहा गया है.

Advertisment

सीएम चंपई सोरेन सोमवार को स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग की समीक्षा बैठक में पहुंचे थे. इस दौरान उन्होंने कहा कि राज्य सरकार शिक्षकों के रिक्त पदों को भरने के लिए जल्द से जल्द सभी प्रक्रियाओं को पूरा करेगी. इसके साथ ही उन्होंने यह भी कहा कि प्राथमिक विद्यालय में आदिवासी और क्षेत्रीय विषयों की पढ़ाई भी शुरू होगी. इसके लिए जनजातीय भाषाओं के 3,538 पद और क्षेत्रीय भाषाओं के 8,418 पदों पर नियुक्ति प्रक्रिया पूरी की जाएगी. इस प्रक्रिया को झारखंड कर्मचारी चयन आयोग के माध्यम से पूरा किया जाएगा.

11 हजार शिक्षकों की भर्ती

15 अगस्त तक राज्य में 11 हजार इंटर प्रशिक्षित सहायक शिक्षकों की भर्ती और 5 सितंबर तक 15 हजार स्नातक प्रशिक्षित सहायक शिक्षकों की नियुक्ति प्रक्रिया को पूरा करने के लिए कहा गया है.

Advertisment

इसके अलावा सीएम सोरेन ने पूर्व सीएम रघुवर दास की सरकार के दौरान बंद हुए स्कूलों को फिर से खोलने का आदेश जारी किया है. उन्होंने कहा कि प्रदेश में जो स्कूल कठिन भौगोलिक समस्याओं की वजह से बंद किए गए थे, उन्हें आवश्यक कार्य योजना बनाकर खोला जाए. मालूम हो कि पूर्व सीएम रघुवर दास की सरकार ने प्रदेश में 6000 स्कूलों को बंद किया था, इन स्कूलों को दूसरे स्कूलों में विलय कर दिया गया था. 

सीएम चंपई सोरेन ने विभाग को यह निर्देश दिए हैं कि स्कूलों में बिजली, पानी और टॉयलेट की कोई कमी नहीं होनी चाहिए. साथ ही कोर्स बुक, स्कूल ड्रेस, छात्रवृत्ति योजना, साइकिल वितरण योजना जैसे कामों को शीघ्र पूरा करने के लिए भी अधिकारियों को निर्देश दिए गए है. राज्य में उत्कृष्ट स्कूलों को बढ़ाने के लिए भी योजना तैयार करने के लिए सीएम ने आदेश दिए हैं. वर्तमान में राज्य में 80 उत्कृष्ट विद्यालय चलाए जाते हैं.

Jharkhand Assembly election teacher jobs in Jharkhand Teacher Vacancy Jharkhand