देश की पहली अंडरवाटर मेट्रो बनकर हुई तैयार, PM नरेंद्र मोदी ने दिखाई हरी झंडी

पीएम ने आज देश को पहले अंडरवाटर मेट्रो टनल की सौगात दी है. अंडरवाटर मेट्रो कोलकाता के ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर प्रोजेक्ट का हिस्सा है. जिसे 8600 करोड़ रुपए से बनाया गया है. 

New Update
PM मोदी ने अंडरवाटर मेट्रो को दिखाई हरी झंडी

कोलकाता: PM मोदी ने अंडरवाटर मेट्रो को दिखाई हरी झंडी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज अपने चुनावी दौरे के लिए कोलकाता में मौजूद हैं. कोलकाता से पीएम ने आज देश को पहली अंडर वॉटर मेट्रो टनल की सौगात दी. बुधवार को कोलकाता में पीएम ने जमीन से 33 मीटर नीचे और हुगली नदी तल से 13 मीटर नीचे बने मेट्रो का उद्घाटन किया.

Advertisment

1984 में देश की पहली मेट्रो ट्रेन कोलकाता उत्तर-दक्षिण कॉरिडोर ब्लू लाइन में दौड़ी थी. इसके 40 साल बाद एक बार फिर से यहीं से देश की पहली अंडरवाटर मेट्रो रेल भी दौड़ेगी. 1984 में कोलकाता में सबसे पहले मेट्रो का संचालन हुआ था उसके 18 साल बाद दिल्ली में साल 2002 में मेट्रो का संचालन हुआ.

520 मीटर लंबे टनल का निर्माण

पहला अंडरवाटर मेट्रो कोलकाता के ईस्ट-वेस्ट कॉरिडोर प्रोजेक्ट का हिस्सा है. ईस्ट-वेस्ट मेट्रो परियोजना सेक्टर 5 को हुगली नदी के दूसरी ओर हावड़ा मैदान से जोड़ेगी. जिसे 8600 करोड़ रुपए से बनाया गया है. 

Advertisment

इस मेट्रों के लिए हावड़ा स्टेशन से महाकरण स्टेशन तक 520 मीटर लंबे टनल का निर्माण हुआ है. जिसके अंदर दो ट्रैक बने हैं. मेट्रो टनल को 80 किलोमीटर घंटे की रफ्तार से सिर्फ 45 सेकंड में पार करने के लिए तैयार किया गया है. इस मेट्रो से हावड़ा और कोलकाता की कनेक्टिविटी काफी बेहतर होगी. मेट्रो से रोज 7 से 10 लाख लोग सफर कर सकेंगे.  

अंडरग्राउंड मेट्रो में हावड़ा मैदान से एक्सपैंड तक 4.8 किलोमीटर का रूट तैयार किया गया है. इसमें चार अंडरग्राउंड स्टेशन हावड़ा मैदान, हावड़ा स्टेशन, महाकरण और एक्सप्लेंड शामिल है. हावड़ा स्टेशन जमीन से 30 मीटर नीचे है. यह दुनिया में सबसे ज्यादा गहराई में बना मेट्रो स्टेशन है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज कोलकाता के संदेशख़ाली से करीब 85 किलोमीटर दूर नॉर्थ 24 परगना जिले में रैली भी करेंगे. इस रैली में संदेशख़ाली की पीड़ित महिलाओं के भी शामिल होने की बात सामने आ रही है. कहा जा रहा है कि पीड़ित महिलाएं पीएम मोदी के साथ स्टेज पर भी नजर आ सकती हैं.

pm narendra modi first underwater metro Sandeshkhali victim women underwater metro kolkata