Gaza War: रमजान के पाक महीने में भी गाज़ा में जारी है मौत मंजर, इफ्तारी लाने गए 29 लोगों की हमले में मौत

इस्लामिक देश फिलिस्तीन में लोगों ने जंग के बीच भी रोजा रखा है. गाज़ा के एक डिस्ट्रीब्यूशन केंद्र पर इजरायल ने एयर स्ट्राइक कर दी जिसमें कुल 29 लोगों की मौत हो गई है.

New Update
गाज़ा में रामदान

रमजान के पाक महीने में भी गाज़ा में जारी है मौत मंजर

रमजान का पाक महीना शुरू हो गया है. इस्लामिक देश फिलिस्तीन में भी जंग के बीच लोगों ने रोजा रखा है. उत्तरी गाज़ा में रमजान के मौके पर लोगों में सीजफायर की उम्मीद थी, लेकिन यह उम्मीद रमजान के पहले दिन से ही बिखर गई. दरअसल रमजान की शुरुआत होते ही 24 घंटे के अंदर इजरायली हमले की वजह से गाज़ा में 67 लोगों की मौत हो गई. 

Advertisment

फिलिस्तीन के शहर गाज़ा में हमलों के रुक जाने के बाद रमजान के महीने में रोज खाना खिलाना शुरू किया गया था. अमेरिका, कतर और मिश्र को यह उम्मीद थी कि रमजान से पहले जंग को लेकर समझौता हो जाएगा. और इजरायली बंधकों और फिलिस्तीनी कैदियों को भी रिहा कर दिया जाएगा. लोगों के मन में यह उम्मीद थी कि गाज़ा में हुए अमानवीय हालात खत्म हो जाएंगे और मदद पहुंचाई जा सकेगी. लेकिन पिछले हफ्ते ही जंग को लेकर वार्ता रुक गई और एक बार फिर से हमलों का सिलसिला जारी है.

डिस्ट्रीब्यूशन केंद्र पर इजरायल का हमला

गाज़ा के अल नुसरत कैंप के पास बने एक डिस्ट्रीब्यूशन केंद्र पर इजरायल ने एयर स्ट्राइक कर दी, जिसमें आठ लोगों की मौत हो गई. नॉर्थ गाजा में खाना खिलाते हुए फिलिस्तीनियों पर इजरायली सैनिकों ने हमला कर दिया जिसमें 21 लोगों की मौत हो गई. रायटर्स के मुताबिक दोनों हमलों में कुल मिलाकर 29 फिलिस्तीनों की मौत हो गई है.

अब तक दोनों देशों के बीच में हुए इस हमलों से 31,112 लोगों की मौत हो चुकी है. जिसमें दो तिहाई बच्चे और महिलाएं शामिल है. 

हमास के आतंकवादियों ने दक्षिणी इजरायल पर 7 अक्टूबर 2023 को हमला किया था. जिसमें 1,200 लोगों की मौत का अनुमान लगाया गया था. हमास के हमले के बाद इजरायल ने भी जवाबी कार्रवाई देनी शुरू की, जिसके कारण फिलिस्तीन और इजरायल के बीच में युद्ध शुरू हो गया. इस युद्ध की वजह से फिलिस्तीन के शहर गाज़ा में 23 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हैं. लगभग 80% लोग गाज़ा में बेघर बताए जा रहे हैं.

IsraelPalestineWar Gaza War food crisis in gaza Ramdan in Gaza Gaza under attack Ramzan Month