चुनाव आयोग ने किया प्रेस कांफ्रेंस, जानिए किसे बताया पांचवा 'M'

चुनाव आयोग ने वोटों की गिनती पर कहा “जिस तरह वोटिंग प्लानिंग से कराई, उसी तरह काउंटिंग भी मुस्तैदी से होगी. 10.50 लाख बूथ, एक हॉल में 14 टेबल. 8000 से ज्यादा उम्मीदवार हैं. 30 से 35 लाख लोग बाहर हैं. वहां माइक्रो ऑब्जर्वर होंगे.

New Update
चुनाव आयोग ने किया प्रेस कांफ्रेंस

चुनाव आयोग ने किया प्रेस कांफ्रेंस

सात चरण में चला लोकसभा चुनाव 2024 समाप्त हो चुका है. वोटों की गिनती मंगलवार 4 जून को शुरू हो जायगी और रिजल्ट भी कल ही जारी हो जायेंगे. पूरी चुनावी प्रक्रिया के दौरान चुनाव आयोग को कई तरह के आरोपों का भी सामना करना पड़ा है. EC को इस दौरान सुप्रीम कोर्ट में भी जबाव दाखिल करना पड़ा.

Advertisment

हालांकि वाद-विवाद के इतर चुनाव की प्रक्रिया अब समाप्त हो चुकी है. कल रिजल्ट जारी होने से पहले सोमावर 3 जून को चुनाव आयोग ने प्रेस कांफ्रेंस की है. मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने इस दौरान आयोग पर लगे आरोपों को बेबुनियाद बताया. साथ ही कहा हमें लापता जेंटलमेन कहा गया, लेकिन इसी दौरान देश में वोटिंग का वर्ल्ड रिकॉर्ड बन गया. यह हमारे लोकतंत्र की ताकत है.”

मुख्य चुनाव आयुक्त ने प्रेस कांफ्रेंस की शुरुआत में मतदान कर्मियों और सुरक्षाबलों को धन्यवाद करते हुए कहा “हमारे सभी सुरक्षा बलों और नागरिक मतदान कर्मचारियों के ईमानदार प्रयासों के लिए विशेष धन्यवाद, जिनके बिना चुनाव कराने की कल्पना नहीं की जा सकती. मतदाताओं, राजनीतिक दलों और मीडिया के साथ-साथ वे हमारे असली हीरो हैं."

यह पहली बार है जब चुनाव आयोग ने रिजल्ट प्रकाशन से ठीक एक दिन पहले प्रेस कांफ्रेंस किया हो.

Advertisment

शक का इलाज नहीं

मुख्य चुनाव आयुक्त ने कांग्रेस नेता जयराम रमेश के आरोपों का जवाब देते हुए कांफ्रेंस में कहा “शक का इलाज तो हकीम लुकमान के पास भी नहीं है. कांग्रेस नेता ने शनिवार को कहा था- शाह ने 150 कलेक्टरों को धमकाया है.

राजीव कुमार ने कहा यह सब फेक नैरेटिव हैं. कुमार ने आगे शायराना अंदाज में कहा “आजकल इल्जामातों का दौर बुलंद है, तलखियों का बाजार गर्म है, मंजूर है इल्जाम लगाओ, मगर शर्त इतनी है, सबूत साथ हों.

चुनाव आयोग ने फेक नैरेटिव पर अपनी बात रखते हुए कहा आजकल फेक नैरेटिव का बाजार गर्म है. चुनाव के दौरान माहौल बनाया गया कि वोटर टर्नआउट में गड़बड़ी है. लेकिन ऐसा कुछ नहीं था. हम मानते हैं हम इसे समझने में फेल रहे, लेकिन अब समझ गये है.

विश्व रिकॉर्ड बनाया

वोटर टर्नआउट के साथ ही राजीव कुमार ने चुनाव के दौरान पड़े वोट को लेकर जानकारी दी. साथ ही बताया कि इसबार 642 मिलियन मतदाताओं का विश्व रिकॉर्ड बना है. जो G7 देशों के मतदाताओं का 1.5 गुना आर EU के 27 देशों के मतदाताओं का 2.5 गुना है. 31 करोड़ महिला वोटर हैं. ये आंकड़ा दुनिया में सबसे ज्यादा है. हमें इन महिला वोटर्स को खड़े होकर सम्मान देना चाहिए.

इस बार हमने पहली बार 100 प्रेस नोट रिलीज किए हैं. यह पहला मौका है जब इतने प्रेस नोट जारी किए गए. चुनाव आयोग ने कहा कि चुनाव से पहले हमने 4M की बात की थी लेकिन चुनाव के दौरान हमें पांचवा M भी मिला. वह था Mischievous  Narrative (शरारती व्याख्यान).

चुनाव आयोग से इंडिया गठबंधन, बीजेपी समेत कुछ पार्टियों के नेताओं नी कल बैठक की थी. बैठक के दौरान उनकी कुछ मांगे और शिकायते थी. इसपर जानकारी देते हुए आयोग ने कहा “कल मल्टीपार्टी मीटिंग में हमसे कुछ मांगें की गई थीं. हम सबको मानेंगे. जैसे सीसीटीवी, दिन तारीख को दिखाया जाए, हर राउंड का रिजल्ट डिस्प्ले होना चाहिए. ये सब होगा.

रीपोलिंग कम हुई

चुनाव आयोग ने वोटों की गिनती पर कहा “जिस तरह वोटिंग प्लानिंग से कराई, उसी तरह काउंटिंग भी मुस्तैदी से होगी. 10.50 लाख बूथ, एक हॉल में 14 टेबल. 8000 से ज्यादा उम्मीदवार हैं. 30 से 35 लाख लोग बाहर हैं. वहां माइक्रो ऑब्जर्वर होंगे. कम से कम 70 -80 लाख लोगों के बीच काम होगा. गलती हो ही नहीं सकती.

आयोग ने कहा इसबार चुनाव के दौरान मात्र 39 रीपोलिंग हुई है. 39 मे से 25 रीपोलिंग दो राज्यों में हुए हैं. जबकि 2019 में 540 रीवोटिंग हुई थी.

election commission Rajiv Kumar Election Commission held a press conference