Lucknow Airport से फरार हुए गोल्ड तस्कर, तीन करोड़ की विदेशी सिगरेट और कैश हुआ बरामद

1 अप्रैल को डीआरआइ की सूचना पर शारजाह से आये 36 तस्करों को लखनऊ एयरपोर्ट पर पकड़ा गया था. अगले दिन मंगलवार को पूछताछ के दौरान एक तस्कर ने बेहोश होने का नाटक किया. इसी दौरान हंगामा करते हुए अन्य साथी एयरपोर्ट से फरार हो गये.

New Update
Lucknow Airport से फरार हुए गोल्ड तस्कर

Lucknow Airport से फरार हुए गोल्ड तस्कर

लखनऊ का चौधरी चरण सिंह एयरपोर्ट (Lucknow Airport) तस्करों के लिए आसान रास्ता बन गया है. बीते 1 अप्रैल को यहां एक दिन में 72 तस्कर पहुंचें जिनमें से 30 तस्कर भागने में सफल हो गये. इस बात का खुलासा तब हुआ, जब बुधवार 3 अप्रैल को कस्टम विभाग की ओर से लखनऊ के सरोजिनी नगर थाने में केस दर्ज कराया गया. 

Advertisment

सोमवार 1 अप्रैल को डीआरआइ की सूचना पर शारजाह से आये 36 तस्करों को लखनऊ एयरपोर्ट पर पकड़ा गया था. अगले दिन मंगलवार को पूछताछ के दौरान एक तस्कर ने बेहोश होने का नाटक किया. इसी दौरान हंगामा करते हुए अन्य साथी एयरपोर्ट से फरार हो गये. इसी दिन 26 अन्य तस्कर बैंकॉक से लखनऊ एयरपोर्ट पहुंचे थे, जिन्हें पकड़ लिया गया है.

साढ़े तीन करोड़ की विदेशी सिगरेट बरामद

शारजाह से लखनऊ आने वाली फ्लाइट से सोमवार सुबह करीब 7.10 बजे 36 आरोपियों को फ्लाइट से हिरासत में लिया गया था. इन सभी को डीआरआई के इंटेल पर सोना और सिगरेट की तस्कसरी के आरोप में हिरासत में लिया गया था. तलाशी के दौरान, इनके कब्जें से 3.5 करोड़ रुपए का विदेशी सिगरेट और 25 लाख रुपए नगद बरामद की गईं थी.

Advertisment

कस्ट़म अधिकारी के अनुसार, पूछताछ के दौरान एक महिला सहित छह आरोपियों ने सोने के बॉडी कंसीलमेंट की बात स्वीकार की थी, लिहाजा सभी तस्किरों की बॉडी का एक्स -रे कराया जा रहा था. इसी बीच, एक तस्कतर ने बीमारी का बहाना बनाया और तुरंत इलाज मुहैया कराने की मांग करने लगा. इसी का फायदा उठाते हुए दूसरे आरोपियों ने हंगामा करना शुरू कर दिया. जिससे एयरपोर्ट पर अफरा तफरी के माहौल बन गया. इसी का फायदा उठाकर 30 आरोपी मौके से फरार हो गए. आशंका है कि पेस्ट के रूप में लाया गया सोना (Gold Smuggling) भी तस्कर लेकर भागने में सफल रहे हैं.

वहीं, डायरेक्टरेट आफ रेवेन्यू इंटेलीजेंस (डीआरआइ) से शिकायत मिलने के बाद लखनऊ पुलिस भी तस्कररों की तलाश में जुट गयी है. हालांकि एयरपोर्ट की कड़ी सुरक्षा (Airport Security) के बीच आरोपियों का फरार हो जाना व्यवस्था पर सवाल खड़ा करता है. क्योंकि एयरपोर्ट पर 32 सदस्यीय कस्टम टीम के साथ-साथ सीआइएसएफ (CISF) की टीम भी मौजूद रहती है.

वहीं इस मामले में अफसरों पर कार्रवाई करते हुए डायरेक्टरेट आफ रेवेन्यू इंटेलीजेंस (DRI) ने, कस्टम के सहायक आयुक्त एके सिंह समेत, आठ अफसरों को एयरपोर्ट से हटाकर मुख्यालय से संबद्ध कर दिया है. और बुधवार (3 अप्रैल) देर रात दस अफसरों व कर्मचारियों की नई टीम एयरपोर्ट पर तैनात कर दी गई.

Gold Smuggling Lucknow Airport Airport Security DRI