झारखंड: राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का दूसरा चरण रद्द, किसान आंदोलन में होंगे शामिल

बुधवार को राहुल गांधी अपनी न्याय यात्रा के साथ छत्तीसगढ़ से झारखंड के गढ़वा जिले में पहुंचने वाले थे, लेकिन अब वायनाड सांसद का यह कार्यक्रम रद्द हो गया है. राहुल गांधी दिल्ली के लिए रवाना हो गए हैं.

New Update
झारखंड में राहुल गांधी की यात्रा रद्द

झारखंड: राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का दूसरा चरण रद्द

झारखंड में राहुल गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा का दूसरा फेज कैंसिल हो गया है. बुधवार को राहुल गांधी अपनी न्याय यात्रा के साथ छत्तीसगढ़ से झारखंड के गढ़वा जिले में पहुंचने वाले थे. पहले से तय इस कार्यक्रम के तहत राहुल गांधी गढ़वा जाने वाले थे, लेकिन अब खबर आ रही है कि राहुल गांधी झारखंड नहीं जाएंगे. बताया जा रहा है कि राहुल गांधी किसी जरुरी काम की वजह से दिल्ली रवाना हो गए है.

Advertisment

हालांकि गढ़वा में वायनाड सांसद राहुल गांधी के ना होने से भी भारत जोड़ो न्याय यात्रा का कार्यक्रम जारी रहेगा. कांग्रेस के सभी कार्यकर्ता और नेता इस यात्रा में मौजूद रहेंगे. राहुल गांधी बुधवार को गढ़वा में मनरेगा मजदूर से मुलाकात करने वाले थे, लेकिन अब राहुल गांधी की जगह मजदूरों से जयराम रमेश और कन्हैया कुमार मुलाकात करेंगे. दोपहर 2:00 बजे भारत जोड़ो न्याय यात्रा रंगा पहुंचेगी और शाम 5:00 बजे बी मोड विश्रामपुर में यात्रा का आगमन होगा.

किसान आंदोलन में शामिल होंगे राहुल गांधी

कांग्रेसी सूत्रों के मुताबिक राहुल गांधी भले ही इस यात्रा में शामिल न हो, लेकिन वह जल्द ही बिहार के औरंगाबाद से एक बार फिर से यात्रा में शामिल होंगे. खबरों के मुताबिक राहुल गांधी भारत जोड़ो न्याय यात्रा को छोड़कर दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन में शामिल होने के लिए जा रहे हैं.

Advertisment

राहुल गांधी दूसरे चरण में भले ही झारखंड ना पहुंच रहे हो, लेकिन पहले चरण में राहुल गांधी ने झारखंड में इस यात्रा से खूब सुर्खियां बटोरी थी. राहुल गांधी पाकुड़ से होते हुए गोड्डा, देवघर, बोकारो, रांची, खूंटी के रास्ते गुमला पहुंचे थे. इस दौरान देवघर में राहुल गांधी ने बाबा बैद्यनाथ मंदिर में पूजा-अर्चना भी की थी, देवघर में उनके दर्शन की तस्वीरे काफी वायरल हुई थी. 

झारखंड में राहुल गांधी के पहले फेज की न्याय यात्रा पर भाजपा ने सदन में सवाल उठाए थे. भाजपा ने पूछा था कि राहुल गांधी बिरसा मुंडा की जन्मस्थली क्यूं नहीं गए थे. राहुल गांधी के उलिहातू न जाने पर कांग्रेस के नेता भी खफा हुए थे. राहुल गांधी ने झारखंड में साइकिल से कोयला भी ढोया था, इसकी तस्वीर पोस्ट करते हुए राहुल गांधी ने अपने एक अकाउंट पर लिखा था कि साइकिल पर 200-200 किलो कोयला लेकर रोज़ 30-40 किलोमीटर चलने वाले इन युवाओं की आय नाम मात्र है. बिना इनके साथ चले, इनके भार को महसूस किए, इनकी समस्याओं को नहीं समझा जा सकता. इन युवा श्रमिकों की जीवनगाड़ी धीमी पड़ी, तो भारत निर्माण का पहिया भी थम जाएगा. 

राहुल गांधी ने अपने भारत जोड़ो न्याय यात्रा की शुरुआत 14 जनवरी से मणिपुर से की थी. इस यात्रा का समापन 20 मार्च को मुंबई में होना है, हालांकि यह यात्रा समय के पहले भी खत्म हो सकता है. कहा जा रहा है कि 10 दिन पहले राहुल गांधी की यह यात्रा खत्म हो सकती है.

jharkhand rahulgandhi bharatjodonyayyatra farmerprotest2024