दिल्ली लोकसभा चुनाव के बीच हुई पाकिस्तान की एंट्री, पड़ोसी देश से किसने किया अरविंद केजरीवाल का समर्थन

भारत में राजनेताओं का भाषण पाकिस्तान की आलोचना के बिना पूरा नहीं होता, जबकि पाकिस्तान में किसी को भी भारतीय राजनीति की परवाह नहीं है. फवाद चौधरी ने कहा भाजपा मुस्लिम विरोधी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए पाकिस्तान का उपयोग करती है. 

New Update
अरविंद केजरीवाल का समर्थन

अरविंद केजरीवाल का समर्थन

लोकसभा चुनाव के बीच एक बार फिर पाकिस्तान भारतीय राजनीति में मुद्दा बन गया है. शनिवार 25 मई को छठे चरण का मतदान जारी है. आज दिल्ली के 7 लोकसभा सीटों पर भी मतदान जारी है. सीएम अरविंद केजरीवाल ने भी अपने परिवार समेत दिल्ली में मतदान किया और इसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर पोस्ट की.

Advertisment

केजरीवाल ने फोटो पोस्ट करते हुए लिखा “मैंने अपने पिता, पत्नी और बच्चों के साथ आज वोट डाला। मेरी माता जी की तबियत बहुत ख़राब है. वो नहीं जा पाईं. मैंने तानाशाही, बेरोज़गारी और महंगाई के ख़िलाफ़ वोट डाला. आप भी वोट डालने ज़रूर जाएँ.”

अरविन्द केजरीवाल के इसी तस्वीर को री-ट्वीट करते हुए पाकिस्तान के पूर्व सूचना मंत्री फवाद चौधरी ने केजरीवाल के जीत की कामना की. फवाद चौधरी ने लिखा “मैं कामना करता हूं कि शांति और सद्भाव से नफरत और उग्रवाद की ताकटन की हार होगी.”

फवाद चौधरी के इस री-ट्वीट पर जवाब देते हुए केजरीवाल ने भी लिखा “चौधरी साहब, मैं और मेरे देश के लोग अपने मसलों को संभालने में पूरी तरह सक्षम हैं. आपके ट्वीट की ज़रूरत नहीं है. इस वक़्त पाकिस्तान के हालात बहुत ख़राब हैं. आप अपने देश को सँभालिये.” 

Advertisment

केजरीवाल ने आगे लिखा “भारत में हो रहा चुनाव हमारा आंतरिक मामला है. अतंकवाद के सबसे बड़े प्रायोजकों का हस्तक्षेप भारत बर्दाश्त नहीं करेगा.” 

केजरीवाल के इस जवाब के कुछ मिनट बाद फवाद चौधरी ने फिर से ट्वीट किया और लिखा “सीएम साहब, वास्तव में चुनाव प्रचार आपका अपना मुद्दा है, लेकिन आशा है कि आप उग्रवाद के मुद्दे पर बात करेंग. चाहे वह पाकिस्तान में हो या भारत में. यह एक ऐसा मुद्दा है जो सभी के लिए खतरनाक है. चाहे वह बांग्लादेश हो, भारत हो या पाकिस्तान हो. इसलिए इसके लिए हर किसी को चिंतित होना चाहिए. पाक में स्थिति बहुत खराब है लेकिन लोगों को बेहतर समाज बनाने के लिए प्रयास करना चाहिए.” 

भारतीय राजनीति की परवाह नहीं

फवाद चौधरी यही नहीं रुके उन्होंने आगे फिर एक ट्वीट कर लिखा "भारत में राजनेताओं का भाषण पाकिस्तान की आलोचना के बिना पूरा नहीं होता, जबकि पाकिस्तान में किसी को भी भारतीय राजनीति की परवाह नहीं है, ऐसा क्यों है?

फवाद चौधरी ने आगे बीजेपी पर प्रहार करते हुए लिखा “इसका एक कारण यह है कि भाजपा मुस्लिम विरोधी भावनाओं को व्यक्त करने के लिए पाकिस्तान का उपयोग करती है. 

इससे पहले 24 मई को भी फवाद चौधरी ने गृह मंत्री अमित शाह की एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा था "नफरत फैलाने वालों के गिरोह से हम क्या उम्मीद कर सकते हैं"

बीजेपी का पलटवार

चुनावों के बीच शुरू हुए इस बहस पर बीजेपी ने भी अपनी प्रतिक्रिया दी है. दिल्ली भाजपा प्रदेश अध्यक्ष वीरेंद्र सचदेवा ने ने कहा “दिल्ली में चुनाव के दिन ही केजरीवाल के समर्थन में पाकिस्तान का बयान आना कोई इत्तफाक नहीं है. सचदेवा ने आरोप लगाया कि केजरीवाल पाकिस्तान से मिले हुए हैं और देश के लिए बड़ा खतरा बन चुके है.

वहीं केंद्रीय मंत्री किरेन रिजिजू ने भी भी कहा कि राहुल गांधी की तरह अरविंद केजरीवाल को  पाकिस्तान में भारी समर्थन हैं. यह पहली बार नहीं है जब फवाद चौधरी ने इस तरह का बयान दिया है. कुछ समय पहले भी उन्होंने  राहुल गांधी का एक वीडियो शेयर किया था.

फवाद चौधरी ने इससे पहले एक मई को राहुल गांधी की एक वीडियो पोस्ट की थी और इसमें कैप्शन लिखा था राहुल ऑन फायर”.

delhi arvind kejriwal Pakistan Delhi Lok Sabha elections Lok Sabha election