जातीय जनगणना पर शुरू हुई सियासत, बीजेपी ने कहा जनगणना है जांच का विषय

बिहार बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने कहा है कि सीमांचल के सीमावर्ती इलाकों में आबादी बढ़ी है और यह आबादी बांग्लादेशी घुसपैठियों के कारण बढ़ी है.

New Update
बिहार में जाति जनगणना

बीजेपी ने कहा जनगणना है जांच का विषय

बिहार में जातीय जनगणना के बाद राजनीतिक प्रतिक्रिया भी आनी शुरू हो गई है.

Advertisment

राहुल गांधी ने अपने एक्स मंच से ट्वीट करते हुए ये बात कही है. बिहार की जातीय जनगणना से पता चलता है कि यहां ओबीसी, एससी, एसटी 84% हैं। केंद्र सरकार के 90 सचिवों में से केवल 3 ओबीसी हैं, जो भारत के बजट का केवल 5 प्रतिशत संभालते हैं।

इसलिए भारत के जातिगत आंकड़ों को जानना जरूरी है। जितनी अधिक जनसंख्या, उतने अधिक अधिकार - यह हमारी प्रतिज्ञा है। लालू यादव ने भी एक्स हैंडल पर अपने पुराने ट्वीट को रीट्वीट करते हुए लिखा है- सालों पहले बताया था ना?

दरअसल, 26 अगस्त 2015 को उन्होंने अपने ब्लॉग पर लिखा था कि समावेशी विकास के लिए उन्हें रिहा करना होगा।

Advertisment

तेजस्वी यादव ने देश को दी बधाई

जाति आधारित सर्वेक्षण रिपोर्ट पेश होने पर डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव ने पूरे देश को बधाई दी है.

उन्होंने कहा कि इसके लिए उन्होंने सड़क से लेकर संसद तक संघर्ष किया है. सरकार इस डेटा का इस्तेमाल करके ही सरकारी योजनाएं बनाने की कोशिश करेगी जिससे लोगों को फायदा हो. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बिहार की यह जातीय जनगणना पूरे देश में होनी चाहिए.

85 फीसदी लोग पिछड़ी जाति से

राजद नेता मनोज कुमार झा ने कहा है कि यह एक ऐतिहासिक क्षण है और मुझे खुशी है कि जनगणना रिपोर्ट आज 2 अक्टूबर को जारी की गई. इस 2 अक्टूबर को सामाजिक न्याय की धारा को एक नई ताकत मिली है। उन्होंने कहा है कि जनगणना रिपोर्ट से पता चलता है कि 85 फीसदी लोग पिछड़ी जाति से आते हैं. देश की नीतियां और नियम इसी से तय होंगे.

बिहार बीजेपी के प्रदेश प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने कहा है कि सीमांचल के सीमावर्ती इलाकों में आबादी बढ़ी है और यह आबादी बांग्लादेशी घुसपैठियों के कारण बढ़ी है. यदि उन्हें भी इस गणना में शामिल किया जाए तो यह गणना सही नहीं है। मुझे नहीं लगता कि चुनाव के समय इसका कोई असर पड़ने वाला है.' उन्होंने यह भी कहा कि यह जनगणना कई लोगों के घरों पर नहीं हुई है, यह जांच का विषय है.

caste census Politics Bihar NEWS