राहुल गांधी का PM Modi पर तंज, कहा- "गांधी को 'शाखा शिक्षित' के प्रमाणपत्र की जरूरत नहीं"

पीएम मोदी पर तंज कसते हुए लिखा “महात्मा गांधी वो सूर्य हैं जिसने पूरे विश्व को अंधेरों से लड़ने की ताकत दी. उन्हें किसी ‘शाखा शिक्षित’ के प्रमाणपत्र की ज़रूरत नहीं है.

author-image
पल्लवी कुमारी
एडिट
New Update
राहुल गांधी का PM Modi

राहुल गांधी का PM Modi पर तंज

लोकसभा चुनाव की सरगर्मी बढ़ी हुई है. पक्ष और विपक्ष एक दुसरे पर निशाना साधने का एक भी मौका जाने नहीं देना चाहती है. 28 मई को टीवी न्यूज चैनल ABP न्यूज को दिए इन्टरव्यू में पीएम मोदी(PM modi) ने महात्मा गाँधी(mahatma gandhi) को लेकर अपने विचार रखे थे. इसमें पीएम मोदी ने विपक्ष पर आरोप लगाया कि गांधी के प्रचार-प्रसार में पिछली सरकार नाकाम रही है.

Advertisment

पीएम मोदी ने विपक्ष पर सवाल उठाते हुए कहा “दुनिया में महात्मा गांधी एक बहुत बड़े महान आत्मा थे. क्या 75 साल में यह हमारी जिम्मेवारी नहीं थी कि पूरी दुनिया महात्मा गाँधी को जाने.”

पीएम मोदी ने आगे माफ़ी मांगते हुए कहा “कोई नहीं जनता था (गांधी को), मुझे माफ़ करना,पहली बार जब गाँधी पर फिल्म बनी तब दुनिया में क्यूरिओसिटी हुई कि अच्छा ये कौन हैं?”

राहुल और विपक्ष का तंज

Advertisment

पीएम मोदी के इसी बयान के बाद पूरा विपक्ष पीएम मोदी को घेरने लगा है. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पीएम मोदी के इस बयान के बाद सोशल मीडिया एक्स पर पोस्ट किया “सिर्फ ‘एंटायर पॉलिटिकल साइंस’ के छात्र को ही महात्मा गांधी के बारे में जानने के लिये फिल्म देखने की ज़रूरत रही होगी?

राहुल गांधी ने इसके बाद एक वीडियो भी शेयर किया जिसमें वो गांधी का जिक्र करते नजर आ रहे हैं. साथ ही वीडियो के कैप्शन में संघ और पीएम मोदी पर तंज कसते हुए लिखा “महात्मा गांधी वो सूर्य हैं जिसने पूरे विश्व को अंधेरों से लड़ने की ताकत दी. सत्य और अहिंसा के रूप में बापू ने दुनिया को ऐसा मार्ग दिखाया, जो कमज़ोर से कमज़ोर व्यक्ति को भी अन्याय के खिलाफ खड़े होने का साहस देता है. उन्हें किसी ‘शाखा शिक्षित’ के प्रमाणपत्र की ज़रूरत नहीं है.

राहुल वीडियो में कहते हैं जो लोग नाथीराम गोडसे के हिंसा के रास्ते पर चलते हैं वे गांधी को नहीं समझ सकते.

वहीं कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने लिखा “पता नहीं निवर्तमान प्रधानमंत्री कौन सी दुनिया में रहते हैं जहां 1982 से पहले महात्मा गांधी दुनिया भर में नहीं माने जाते थे. यदि किसी ने महात्मा की विरासत को नष्ट किया है तो वह स्वयं निवर्तमान प्रधानमंत्री ही हैं. वाराणसी, दिल्ली और अहमदाबाद में उनकी ही सरकार ने गांधीवादी संस्थाओं को नष्ट किया है.

यही आरएसएस कार्यकर्ताओं की पहचान होती है कि वे महात्मा गांधी के राष्ट्रवाद को नहीं जानते. उनकी विचारधारा ने जो माहौल बनाया था, उसी वजह से नाथूराम गोडसे ने गांधीजी की हत्या की. 2024 का चुनाव महात्मा भक्त और गोडसे भक्त के बीच में हुआ है. निवर्तमान प्रधानमंत्री और उनके गोडसे भक्त साथियों की हार ज़ाहिर है.

पीएम मोदी के इस बयान पर तृणमूल कांग्रेस की महुआ मोइत्रा ने पीएम का वीडियो शेयर करते हुए तंज के साथ लिखा “कोई गांधी को नहीं जनता था."

PM modi rahul gandhi mahatma gandhi Rahul Gandhi took a dig at PM Modi