राजकोट गेमिंग जोन हादसा: गुजरात हाईकोर्ट ने हादसे पर कहा- यह ‘मैन मेड डिजास्टर’

राजकोट के TRP गेम जोन में 25 मई की शाम हुए हादसे में 28 लोगों की मौत हो गयी. गेमिंग जोन के निचले हिस्से में वेल्डिंग का काम चल रहा था. इसी दौरान वेल्डिंग से निकली चिंगारी से आग भड़क जाती है.

New Update
राजकोट गेमिंग जोन हादसा

राजकोट गेमिंग जोन हादसा

राजकोट के TRP गेम जोन (Rajkot Gaming Zone accident) में 25 मई की शाम हुए हादसे में 28 लोगों की मौत हो गयी. गेमिंग जोन के निचले हिस्से में वेल्डिंग का काम चल रहा था. इसी दौरान वेल्डिंग से निकली चिंगारी से आग भड़क जाती है. इसका एक वीडियो भी समाने आया है. जिसमें देखा जा सकता कैसे छोटी से चिंगारी से आग भड़क जाती है. वहां मौजूद कर्मचारी उसे बुझाने का प्रयास भी करते हैं लेकिन आग दो मिनट में तेजी से पूरे बिल्डिंग में फैल जाती है.

Advertisment

इस हादसे में 12 बच्चों समेत 28 लोगों की मौत हुई है. वहीं 25 से ज्यादा लोगों का रेस्क्यू किया गया.

बताया जा रहा है तीन मंजिला बिल्डिंग में आने-जाने के लिए मात्र एक ही सीढ़ी था. जिसके कारण ऊपरी मंजिल के लोग भाग नहीं सके.

हाईकोर्ट ने की सुनवाई

Advertisment

इस हादसे पर गुजरात हाईकोर्ट(Gujarat High Court) ने स्वतः संज्ञान लेते हुए रविवार 26 मई को भी सुनवाई किया था. विशेष जज बीरेन वैष्णव और देवेन देशाई ने सुनावाई की थी. इस दौरान कोर्ट ने राज्य की अहमदाबाद, सूरत, वडोदरा और राजकोट में स्थित गेम जोन का ब्योरा मांगा है. कोर्ट ने इन शहरों के महानगरपालिकाओं से 24 घंटे के अंदर जवाब मांगा है.

कोर्ट ने इस हादसे पर कहा कि "पहली नजर में यह हादसा ‘मैन मेड डिजास्टर’ है. कोर्ट इस मामले पर सोमवार 27 मई को भी सुनवाई कर रही है. कोर्ट ने इस दौरान कहा कि “अब हमें गुजरात सरकार और नगर प्रशासन पर बिल्कुल भरोषा नहीं है.”

कोर्ट ने राजकोट महानगरपालिका को फटकार लगाते हुए कहा बच्चों समेत 28 लोगों की मौत के बाद आपको अब पता लगा कि शहर में दो गेमिंग जोन बिना परमिशन के चल रहे हैं, क्या आप अंधे हो गये हैं, या फिर सो रहे हैं? यह त्रासदी आंखे खोलने वाली हैं. सबसे दुखद बात यह है कि इसमें मासूम बच्चों की भी मौत हुई है.

बताया जा रहा है राजकोट में गेमिंग सेंटर अनधिकृत परिसर में बनाया गया था और फायर सेफ्टी की NOC भी नहीं था.

गेमिंग जोन के मालिक गिरफ्तार

पुलिस ने गेमिंग जोन के मालिक युवराज सिंह सोलंकी, पार्टनर प्रकाश जैन, राहुल राठौड़, और मैनेजर नितिन जैन को गिरफ्तार किया गया है. हादसे के बाद चारों लोगों ने अपने फोन बंद कर लिए थे.

वहीं हादसे के बाद राजकोट पुलिस ने एक अधिकारी को सस्पेंड कर दिया है. वहीं गुजरात सरकार ने सात अधिकारियों को निलंबित किया है.

Rajkot Gaming Zone accident Gujarat High Court Man made disaster